पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच पर फिक्सिंग के बादल, ये 2 खिलाड़ी शक के घेरे में 1

नई दिल्ली, 1 जुलाई (आईएएनएस)| केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने शनिवार को भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली, हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह के अलावा टीम के बाकी खिलाड़ियों पर पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल मैच को फिक्स करने का आरोप लगाया है। उन्होंने इस मामले में जांच की मांग की है। भारत को 18 जून को हुए फाइनल में पाकिस्तान ने एकतरफा मुकाबले में 180 रनों से करारी शिकस्त दी थी। महेंद्र सिंह धोनी को अपना पसंदीदा क्रिकेटर बता चुकी दिशा पाटनी, धोनी या युवराज नहीं बल्कि इस भारतीय खिलाड़ी के साथ जाना चाहती है डेट पर

पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच पर फिक्सिंग के बादल, ये 2 खिलाड़ी शक के घेरे में 2

वड़ोदरा के जिला अधिकारियों से मिलने के बाद शुक्रवार को अठावले ने संवाददाताओं से कहा, “कोच अनिल कुंबले, कोहली और युवराज सिंह एवं बाकी खिलाड़ियों ने पूरे टूर्नामेंट में शानदार बल्लेबाजी की थी। इन जैसे शानदार खिलाड़ियों के रहते हुए हम पाकिस्तान जैसी टीम से कैसे हार सकते हैं?”

अठावले ने कहा, “उन्होंने टूर्नामेंट में कई शतक जड़े। फाइनल में उन्हें क्या हो गया था। मंत्री ने कहा, ऐसा लगता है कि यह मैच फिक्स था। मैं इसकी जांच की मांग करता हूं।”

पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच पर फिक्सिंग के बादल, ये 2 खिलाड़ी शक के घेरे में 3

पाकिस्तान ने भारत को 180 रनों से हराया था। यह आईसीसी के किसी भी फाइनल में रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत थी। सौरव गांगुली ने चैम्पियन्स ट्राफी के दौरान सानिया मिर्जा को कहा था पाकिस्तानी समर्थक, अब सानिया ने दिया करारा जवाब

समाजिक न्याय और सशक्तिकरण विभाग में राज्य मंत्री ने क्रिकेट और बाकी खेलों में दलित समुदाय के लिए 25 फीसदी आरक्षण की मांग की है।

पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच पर फिक्सिंग के बादल, ये 2 खिलाड़ी शक के घेरे में 4

उन्होंने कहा, “जिन्होंने प्रदर्शन नहीं किया उन्हें बाहर किया जाना चाहिए और दलित सुमदाय के क्रिकेट खिलाड़ियों को मौका मिलना चाहिए। मैं क्रिकेट के अलावा बाकी के खेलों में 25 फीसदी आरक्षण की मांग करता हूं।” 

सीधे तौर पर विराट और युवराज पर साधा निशाना

पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच पर फिक्सिंग के बादल, ये 2 खिलाड़ी शक के घेरे में 5

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले बातों ही बातों में टीम के कप्तान विराट कोहली और ऑल राउंडर युवराज सिंह के ऊपर सवालियां निशान उठा गये. रामदास अठावले के अनुसार भारतीय टीम इतनी मजबूत थी, कि कोई भी उसे हरा नहीं सकता था, लेकिन फिर भी हमें आहार का म्हून देखना पड़ा. पूरे टूर्नामेंट में लाजवाब खेल दिखाने वाले विराट कोहली और युवराज सिंह का बल्ला फाइनल में ही खामोश हो गया और यही नहीं दोनो ही अनुभवी खिलाड़ी जिस तरह से आउट हुए वह शर्मनाक रहा.

Akhil Gupta

Content Manager & Senior Writer at #Sportzwiki, An ardent cricket lover, Cricket Statistician.