सौरव गांगुली के वनडे सुपर सीरीज वाले फैसले को पाकिस्तानी क्रिकेटर राशिद लतीफ़ ने बताया फ्लॉप 1

बीसीसीआई  ( भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भारत, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और एक अन्य शीर्ष टीमों के बीच वनडे सुपर सीरीज खेलने की बात कही है. जिसके बाद से क्रिकेट जगत में हलचल मची हुई है. आईसीसी की ओर से फिलहाल कोई सीधी प्रतिक्रिया नहीं आई है, लेकिन पाकिस्तानी खिलाड़ियों को ये रास नहीं आ रहा. पूर्व कप्तान राशिद लतीफ ने कहा कि ये वनडे सुपर सीरीज सुपर फ्लॉप होगी.

राशिद लतीफ ने यूट्यूब वीडियो के माध्यम से कहा

राशिद लतीफ़

इस तरह की सुपर सीरीज खेलकर ये चारों देश क्रिकेट खेलने वाले अन्य देशों को अलग-थलग करना चाहते हैं. ये अच्छी बात नहीं है. लेकिन मुझे लगता है कि ये फ्लॉप आइडिया साबित होगा. इसी तरह का बिग थ्री मॉडल कुछ सालों पहले भी लाया गया था, लेकिन वो भी नाकाम हो गया था. ऐसे में इस तरह के कॉन्सेप्ट को ज्यादा तवज्जो नहीं दी जानी चाहिए.

टाइम्स ऑफ इंडिया ने सौरव गांगुली से इस बारे में बात की तो गांगुली ने कहा था कि-

सौरव गांगुली के वनडे सुपर सीरीज वाले फैसले को पाकिस्तानी क्रिकेटर राशिद लतीफ़ ने बताया फ्लॉप 2

सौरव गांगुली के वनडे सुपर सीरीज वाले फैसले को पाकिस्तानी क्रिकेटर राशिद लतीफ़ ने बताया फ्लॉप 3

2021 से चार देशों की वनडे सुपर सीरीज शुरू होगी. सीरीज का पहला सीजन भारत में खेला जाएगा. सीरीज में भारत, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया के अलावा एक और टीम शामिल होगी. इसके पहले आईसीसी ने कहा कि था कि वे 2023 से 2031 के बीच फ्यूचर टूर प्रोग्राम के तहत हर साल एक बड़ा टूर्नामेंट आयोजित करने की प्लानिंग कर रहे हैं.

आईसीसी से मंजूरी लेना होगी बड़ी चुनौती

सौरव गांगुली के वनडे सुपर सीरीज वाले फैसले को पाकिस्तानी क्रिकेटर राशिद लतीफ़ ने बताया फ्लॉप 4

आईसीसी किसी भी देश को तीन से अधिक टीमों के टूर्नामेंट के आयोजन की मंजूरी नहीं देता है. क्योंकि यदि आइसीसी बीसीसीआई को यह इस सुपर सीरीज के लिए मंजूरी देता है, तो विश्व क्रिकेट में उसकी प्रभुता कम होने का खतरा है तथा इसके साथ ही बीसीसीआई द्वारा आयोजित इस सुपर सीरीज में उसे ज्यादा रेवन्यू पाने का मौका नहीं मिलेगा.

हालाँकि गांगुली ने पिछले दिनों लंदन में इंग्लिश बोर्ड के अधिकारियों से मुलाकात की थी. सुपर सीरीज को लेकर आईसीसी एक्जीक्यूटिव की अगली बैठक में चर्चा हो सकती है. हालांकि इस पर विवाद होने की संभावना है.