रवि शास्त्री ने आईसीसी के दिए 4 डे टेस्ट को कहा बकवास

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

आईसीसी के 4 डे टेस्ट मैच के प्रस्ताव को रवि शास्त्री ने बताया बकवास, आईसीसी को दी ये सलाह 

आईसीसी के 4 डे टेस्ट मैच के प्रस्ताव को रवि शास्त्री ने बताया बकवास, आईसीसी को दी ये सलाह

आईसीसी ने क्रिकेट कैलेंडर के व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए उसे सहज बनाने के लिए टेस्ट क्रिकेट के मैचों के दिनों को घटाकर 5 दिन से 4 दिन का करने पर विचार किया जा रहा है. एक तरफ आईसीसी व क्रिकेट बोर्ड्स 4 डे टेस्ट मैच के सपोर्ट में हैं तो एक के बाद एक दिग्गज खिलाड़ी इस प्रपोजल के विरोध में नजर आ रहे हैं. सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, गौतम गंभीर के बाद अब टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी 4 डे टेस्ट मैच को बकवास बताया है.

बकवास है टेस्ट क्रिकेट को छोटा करने का प्रपोजल

रवि शास्त्री

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान 80 टेस्ट मैचों में 35.79 के औसत के साथ 3830 रन बनाए हैं. शास्त्री ने आईसीसी द्वारा 5 दिन टेस्ट क्रिकेट को 4 दिन का किए जाने पर सीएनएन न्यूज 18 से 4 डे टेस्ट मैच के बारे में बात करते हुए कहा,

चार दिन का टेस्ट बकवास है. यदि यह प्रपोजल आगे बढ़ता है तो हमारे पास सीमित टेस्ट हो सकते हैं. पांच दिवसीय टेस्ट में छेड़छाड़ करने की कोई जरूरत नहीं है. यदि वे सभी छेड़छाड़ करना चाहते हैं तो शीर्ष छह पक्षों को पांच दिवसीय टेस्ट खेलने दें और अगले छह को चार दिवसीय टेस्ट खेलने की अनुमति दी जाए.

यदि आप टेस्ट संरक्षित करना चाहते हैं तो टॉप-6 टीमों को एक-दूसरे के खिलाफ खेलने दें. आपके पास खेल को लोकप्रिय बनाने के लिए छोटा फॉर्मेट है.

डे-नाइट टेस्ट मैच में सही गेंद को शामिल करने की है जरूरत

रवि शास्त्री

बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन्स में टीम इंडिया ने अपना पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेला. इस मैच में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने पिंक बॉल से भारत के लिए पहला शतक लगाया. अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर रवि शास्त्री ने डे-नाइट टेस्ट मैच को लेकर कहा,

डे-नाइट टेस्ट काफी प्रगति कर रहा है. मुझे लगता है कि डे-नाइट टेस्ट में पिंक बॉल स्पिनरों को कोई फायदा नहीं देती है, उन्हें गेंद को दिन रात के लिए सही करने की जरूरत है. दिन के दौरान आपके पास पूरा टेस्ट हैं, रात तक यह आधे टेस्ट जैसा दिखता है.

Related posts