एक बार फिर दिखी दो पूर्व भारतीय कप्तानों के बीच गर्मागर्मी 1

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने एक बंगाली शो के दौरान कुछ चौंकाने वाले ख़ुलासे किया हैं. गांगुली और भारत के पूर्व डायरेक्टर और क्रिकेटर रवि शास्त्री के बीच पिछले कुछ समय से संबंधों में खटास चल रही है, लेकिन अब ऐसा लगता है दोनों के रिश्ते कभी भी जल्द सुधारते हुए दिखाई नही दे रहे है.

हाल में गांगुली ने एक बंगाली शो के दौरान कुछ ऐसा बयान दिया जोकि शास्त्री को बिल्कुल पसंद नहीं आने वाला हैं.OMG! लाजवाब फॉर्म में चल रहे विराट कोहली के लगातार फ्लॉप होने के बाद कोहली के लिए ये क्या बोल गए गांगुली

कुछ हफ़्ते पहले, एमएस धोनी की कप्तानी छोड़ने का बाद रवि शास्त्री से भारतीय क्रिकेट के सबसे सफ़ल कप्तानों के बारे में पूछा गया था, लेकिन इस दौरान रोचक बात यह रही थी, कि शास्त्री की सफल कप्तानी की सूची में सौरव गांगुली का नाम नहीं था, हालाँकि गांगुली भारत के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक हैं.

चैट शो के दौरान गांगुली से शास्त्री की सूची में उनका नाम शामिल किये जाने का कारण पूछा गया था, जिस पर गांगुली ने मजाक में कहा कि “जब उन्होंने टीम की अगुवाई की थी, तब रवि शास्त्री ने क्रिकेट नहीं देखा था.”

शो के दौरान गांगुली से रवि शास्त्री और अनिल कुंबले तुलना करते हुए 1-10 के पैमाने के आधार पर दोनों को आंकलन के लिए कहा था, जिस पर भारत के पूर्व कप्तान गांगुली ने शास्त्री को 10 में से 7 जबकि मौजूदा भारतीय टीम के कोच कुंबले को 10 में से 9 अंक किया.आईपीएल में अनसोल्ड रहने वाले इरफान पठान के लिए आई अच्छी खबर, अब इस टीम में मिली इस स्टार खिलाड़ी को जगह

वर्ष 2000 में मैच फिक्सिंग कांड के बाद सौरव गांगुली को टीम का कप्तान बनाया गया था, जिसके बाद गांगुली की कप्तानी में भारतीय टीम ने कई यादगार जीत दर्ज की थी. गांगुली की कप्तानी में भारतीय टीम ने विदेशो में जीतना शुरू किया, जबकि वर्ष 2003 के विश्वकप के दौरान भारतीय टीम उपविजेता भी रही थी.

गांगुली और शास्त्री के बीच शब्दों की लड़ाई की शुरुआत पिछले वर्ष कोच के चयन की प्रक्रिया के दौरान शुरू हुई थी. बीसीसीआई ने कोच के चयन के लिए तीन सदस्यीय की कमेटी बनाई थी, जिसके सदस्य सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण थे.इतिहास के पन्नों से: जब सौरव गांगुली के कारण वीरेंद्र सहवाग के सामने झुके टीम के मुख्य कोच

बीसीसीआई द्वारा बनाई गई समिति ने कोच के सबसे प्रबल दावेदार रवि शास्त्री को किनारा करते हुए कुंबले को कोच बना दिया था, जिसके बाद शास्त्री ने गांगुली पर आरोप लगाये थे, कि गांगुली की वजह से उन्हें कोच नहीं बनाया गया हैं.

I am Gautam Kumar a Cricket Adict, Always Willing to Write Cricket Article. Virat and Rohit are My Favourite Indian Player.