रविचंद्रन अश्विन का खुलासा, क्यों छोड़ दिया था क्रिकेट मैच देखना

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

रविचंद्रन अश्विन का खुलासा, क्यों छोड़ दिया था क्रिकेट मैच देखना 

रविचंद्रन अश्विन का खुलासा, क्यों छोड़ दिया था क्रिकेट मैच देखना

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल समाप्त हो गया। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 502 के स्कोर पर अपनी पारी घोषित कर दी। दक्षिण अफ्रीका ने भारतीय टीम के स्पिन गेंदबाजों का डटकर सामना किया। तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक दक्षिण अफ्रीका ने 8 विकेट से 385 रन बना लिए हैं।

मैच देखने के बारे में हुआ सवाल

रविचंद्रन अश्विन का खुलासा, क्यों छोड़ दिया था क्रिकेट मैच देखना 1

भारतीय टीम के स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन प्रेस कॉन्फ्रेंस में आये। वहां उनसे पूछा गया कि उन्होंने कुछ समय पहले क्रिकेट मैच क्यों देखना बंद कर दिया था। इसके लिए पहले उन्होंने अपनी बेटियों को जिम्मेदारी बनाया लेकिन बाद में कहा

“मेरी दो बच्चियां हैं और वह रात को सोने नहीं देती। मजाक से हटकर, जब भी मैं टीवी पर मैच देखता हूँ, तो उसे मिस करने लगता हूँ और लगता है कि खेलना चाहिए। यह आम बात है और सभी इससे गुजरते हैं। मैं दूसरे कामों में ध्यान लगता था जैसे किताबें और पुरातत्त्व की चीजें।”

5 विकेट चटकाए

रविचंद्रन अश्विन का खुलासा, क्यों छोड़ दिया था क्रिकेट मैच देखना 2

ऑस्ट्रेलिया दौरे के पहले टेस्ट मैच के बाद पहली बार इंटरनेशनल मैच खेल रहे रविचंद्रन अश्विन ने दक्षिण अफ्रीका के 5 बल्लेबाजों को आउट किया। मैच के दूसरे दिन उन्होंने दो विकेट चटकाए थे वहीं तीसरे दिन तीन विकेट लिये।

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डू प्लेसिस पिच पर टिक गये थे और बड़ी पारी खेलने को देख रहे थे लेकिन अश्विन ने उन्हें अपना शिकार बनाया। वेस्टइंडीज के खिलाफ पिछली सीरीज के दोनों मैचों में उन्हें बेंच पर बैठना पड़ा था।

बड़े रिकॉर्ड पर नजर

रविचंद्रन अश्विन का खुलासा, क्यों छोड़ दिया था क्रिकेट मैच देखना 3

रविचंद्रन अश्विन के पास टेस्ट क्रिकेट के बड़े रिकॉर्ड की बराबरी करने का मौका है। उनके नाम इस मैच से पहले 65 मैचों में 342 विकेट थे। टेस्ट में सबसे तेज 350 विकेट लेने का रिकॉर्ड मुथैया मुरलीधरन के नाम दर्ज है और उन्होंने 66 मैचों में यह किया था।

रविचंद्रन अश्विन इस मैच में 5 विकेट ले चुके हैं और 3 और विकेट लेते ही मुरलीधरन की बराबरी कर लेंगे। टेस्ट में सबसे तेज 250 और 300 विकेट लेने का विश्व रिकॉर्ड भी अश्विन के नाम ही दर्ज है।

Related posts