राजस्थान क्रिकेट संघ ने अपनाई लोढ़ा समिति की सिफारिशें, बीसीसीआई में हो सकती है आईपीएल शुरू करने वाले बड़े नाम की वापसी 1

राजस्थान क्रिकेट संघ ने मंगलवार 10 जनवरी को हुई बैठक के दौरान लोढ़ा समिति की सारी सिफ़ारिशो को अपना लिया है. उन्होंने अपने बोर्ड के लिए कुछ ऐसे सदस्यों को नियुक्त किया है, जो उनके बोर्ड की तरफ से लोढ़ा समिति की सिफ़ारिशो पर गौर करेंगे.

यह भी पढ़े : धोनी के कप्तानी छोड़ने के फैसले में मेरी कोई भूमिका नहीं है : एमएसके प्रसाद

राजस्थान क्रिकेट संघ ऐसा पहला राज्य संघ है, जिसने लोढ़ा समिति की सिफ़ारिशो को अपना लिया है. वर्तमान में बीसीसीआई द्वारा निलंबित, राजस्थान क्रिकेट संघ अपने हक को वापस पाने की सोच रहा है.

लोढ़ा समिति के निर्देशों के अनुसार, ललित मोदी अब किसी भी क्रिकेट संघ के किसी भी पद के लिए अपना नाम नहीं रख सकते. 3 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राजस्थान क्रिकेट संघ के लिए सविंधान में बदलाव करना बहुत आवश्यक हो गया है. राजस्थान क्रिकेट संघ में यह बदलाव जल्द ही होगा और इस बदलाव के लिए राजेन्द्र सिंह राठोड़, सुभाष जोशी और महमूद अब्दी को इस पर गौर करने के लिए कहा गया है.

यह भी पढ़े : कप्तान बनते ही धोनी के विचारों के खिलाफ बोले कोहली

राजस्थान क्रिकेट संघ ने सविंधान में होने वाले बदलाव की बैठक में राजस्थान क्रिकेट के दिग्गजों को भी शामिल किया है. यह देखते हुए, कि लोढ़ा समिति ने सब राज्य संघो से बराबर की सिफारिश की है, तो राजस्थान क्रिकेट संघ को उनकी बात मानने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी और ना ही वो इस बदलाव में ज्यादा समय लेंगे. जब राजस्थान क्रिकेट संघ के सविंधान में बदलाव हो जायेंगे तब उसके बाद राजस्थान क्रिकेट संघ चुनाव की तारीखों की घोषणा कर देगा.

अगर राजस्थान क्रिकेट संघ के इस फैसले से सबसे ज्यादा खुश, ललित मोदी होंगे, यह वही नाम है, जिसने आईपीएल के सपने को साल 2008 में हक़ीकत बनाया. उन्हें बीसीसीआई द्वारा निलंबित किया हुआ है, लेकिन लोढ़ा समिति के सब सिफारिशें मानने के बाद उनकी एक बार फिर बोर्ड में वापसी हो सकती है.

यह भी पढ़े : युवराज सिंह की शादी के बाद अब रोहित शर्मा ने लगाई इस दिग्गज की शादी की गुहार

राजस्थान क्रिकेट संघ के सदस्यों ने राजस्थान टीम के कप्तान पंकज सिंह को भी सम्मानित किया. पंकज सिंह अभी रणजी में 400 विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में शामिल हो गए है. पंकज सिंह ने यह कीर्तिमान हाल ही में संपन्न हुए रणजी ट्रॉफी के दौरान पाया है. पंकज सिंह को मोमेंटो के साथ-साथ 5 लाख का चेक भी मिला.