मैच हारने का कारण मेरा और एबी डी’विलियर्स का जल्‍द आउट होना रहा: विराट कोहली

reyansh chaturvedi / 29 May 2016

क्रिकेट डेस्‍क। डेविड वॉर्नर (69) की कप्‍तानी पारी और गेंदबाजों के उम्‍दा प्रदर्शन की बदौलत सनराइजर्स हैदराबाद रविवार को आईपीएल-9 का नया चैंपियन बना। रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर की टीम तीसरी बार फाइनल जीतने से वंचित रह गई। इससे पहले 2009 और 2011 में क्रमश: उसे डेक्‍कन चार्जर्स व चेन्‍नई सुपर किंग्‍स से शिकस्‍त झेलना पड़ी थी। आइए नजर डालते है कि मैच के बाद किसने क्‍या कहा-

मैच हारने का कारण मेरा और एबी डी’विलियर्स का जल्‍द आउट होना रहा: विराट कोहली

मैच हारने के बाद आरसीबी के कप्‍तान कोहली का कहना था कि, ‘‍जिस तरह हमने टूर्नामेंट खेला उस पर हमें गर्व है। यह उपलब्धि बेंगलुरु के प्रशंसकों को समर्पित है। आज का मुकाबला हम हार गए, लेकिन जनता का समर्थन हमें मिलता रहा। मैं निराश हूं कि मैच नहीं जीत सके। डेनियल विटोरी ने मुझसे कहा कि 200 रन बनाने के बावजूद हम हार गए, लेकिन प्रशंसकों का समर्थन शानदार रहा।’

इसके बाद विराट का कहना था कि, ‘मेरा और एबी डी’विलियर्स का कम अंतराल में आउट होना बहुत बड़ा झटका रहा। अगर मैं और डिविलियर्स पिच पर होते तो मुकाबला हमारे पक्ष में होता। मैं सनराइसर्ज को जीत की बधाई देना चाहता हूं, वह इस खिताब के प्रबल दावेदार थे।’

कोहली को मोस्‍ट वैलयूएबल प्‍लेयर ऑफ द टूर्नामेंट तथा टूर्नामेंट में सर्वाधिक छक्‍के मारने के अवॉर्ड के साथ ही ऑरेंज कैप भी मिली। खिताब के बाद विराट का कहना था कि ‘यह अच्‍छा प्रोत्‍सा‍हन है, लेकिन हारने के कारण अच्‍छा महसूस नहीं हो रहा है। सनराइजर्स क्‍यों जीती क्‍योंकि उसका गेंदबाजी आक्रमण शानदार है। मुझे पता था कि गेंद पर अच्‍छे से प्रहार कर रहा हूं और मुझे लगातार योगदान देना है। यह मेरी निजी उपलब्धि है, लेकिन अहम बात यह है कि हम फाइनल में पहुंचे।’

जब विराट से सवाल किया गया कि 16 मैचों में 88.45 की औसत और 152.26 की स्‍ट्राइक रेट के साथ 973 रन बनाने का रिकॉर्ड टूटेगा तो विराट ने जवाब दिया कि क्‍यों नहीं, रिकॉर्ड बनते ही टूटने के लिए हैं।

चार शतक जड़ने के बारे में कोहली का कहना था कि इस मामले में मैं खुद आश्‍चर्यचकित हूं। मैंने पारी की शुरुआत की शायद इसलिए कामयाब रहा। तीसरे या चौथे क्रम के बल्‍लेबाज के लिए शतक बनाना आसान नहीं होता। कोहली ने साथ ही कहा कि मुझे इन उपलब्धियों से ज्‍यादा खुशी टीम के बढ़ने पर होती है और चैंपियंस लीग को मिलाकर चौथा फाइनल हारने से मैं निराश हूं।

इसलिए अब बीयर पीकर जश्‍न मनाएंगे: डेविड वॉर्नर
हैदराबाद के कप्‍तान डेविड वॉर्नर का मैच के बाद कहना था कि यह टीम की शानदार उपलब्धि है। उन्‍होंने कहा, ‘इस टीम की अगुआई और‍ खिलाडि़यों का समर्थन करना शानदार रहा। मैंने रन बनाए और इस लिहाज से यह बड़ा सफर रहा। यह पूरी टीम का प्रयास रहा। सही मुकाबले के लिए हमें आपस में घुलने-मिलने की जरूरत थी। हमारे लिए, टीम प्रयास सबकुछ था।’

यह पूछने पर कि पहले बल्‍लेबाजी करते समय कोई लक्ष्‍य दिमाग में था तो वॉर्नर का कहना था कि, ‘हमें पता था कि 200 से अधिक रन बनाना होंगे। विराट कोहली शानदार लीडर हैं, मैं उनसे मुकाबला ज्‍यादा दूर नहीं खींच सकता था। उन्‍होंने इस सीजन में बेंचमार्क स्‍थापित किया है। हमें पता था कि लगातार तीन मुकाबले जीतने होंगे। बेंगलुरु में जीतना सुखद है, हमें पसंदीदा नहीं माना जा रहा था। मगर हमने अच्‍छी बल्‍लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग की। फाइनल की जीत का श्रेय सनराइजर्स से जुड़ी पूरी टीम को जाता है। सभी ने एक-दूसरे की खूब हौसला बढ़ाया। अब हम जश्‍न मनाएंगे। मुझे अगले 24 घंटों में कैरेबियाई धरती पर पहुंचना है, इसलिए अब बीयर पीकर जश्‍न मनाएंगे।’

इतने बड़े क्राउड के सामने खेलना उत्‍साहजनक: बेन कटिंग
15 गेंदों में 39 रन की तूफानी पारी तथा दो विकेट लेकर ‘मैन ऑफ द मैच’ चुने गए बेन कटिंग का कहना था कि, ‘इतने बड़े क्राउड के सामने खेलना उत्‍साहजनक रहा। डेविड वॉर्नर ने पिछले सत्रों के समान टीम को खड़ा किया। अगर वॉर्नर का प्रदर्शन नहीं होता तो हम शायद यहां नहीं खड़े होते। पर्पल कैप जीतने वाले भुवनेश्‍वर कुमार ने पूरे सत्र में शानदार प्रदर्शन किया।’

यह पूछने पर बल्‍ले और गेंद दोनों से योगदान देने पर कैसा महसूस हो रहा है तो कटिंग ने जवाब दिया, ‘यह बेंगलुरु की खूबसूरती है। आप बल्‍ले व गेंद दोनों से योगदान दे सकते हैं।’ बता दें कि आईपीएल फाइनल में मैन ऑफ द मैच जीतने वाले बेन कटिंग दूसरे विदेशी खिलाड़ी हैं।