क्रिकेट जगत के ऐसे रिकॉर्ड जिन्हें आज तक नहीं टूट सके, अब टूटना मुश्किल 1

क्रिकेट के मैदान पर अभी तक कुछ ऐसे रिकॉर्ड बने हैं, जो अभी तक टूटे नहीं हैं. कुछ ऐसे अनदेखे रिकार्ड्स होते हैं जिन्हें खिलाड़ी खुद भी याद नही रख पते हैं.

1. एडम गिलक्रिस्ट के नाम लगातार 96 टेस्ट मैच खेलने का रिकॉर्ड

क्रिकेट जगत के ऐसे रिकॉर्ड जिन्हें आज तक नहीं टूट सके, अब टूटना मुश्किल 2ऑस्टेलियन क्रिकेट के सबसे महान विकेटकीपर में से एक गिलक्रिस्ट के नाम ये रिकॉर्ड दर्ज हैं. उन्होंने 5 नवंबर 1999 से लेकर 24 जनवरी 2008 कोई भी टेस्ट मैच नही छोड़ा.

गिलक्रिस्ट ने वर्ल्ड कप के तीन फाइनल  मैच  में अर्धशतक भी बनाया हैं. उन्होंने 1999 और 2003 में अर्धशतक लगया था और 2007 के फाइनल में उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ शतकीय पारी खेली थी .

जिस खिलाड़ी के लिए 2 साल पहले वीरेंद्र सहवाग ने कहा था, आईपीएल को अलविदा, उसी खिलाड़ी ने रचा इतिहास

2. बापू नाडकर्णी के लगातार 21 ओवर मेडन 

क्रिकेट जगत के ऐसे रिकॉर्ड जिन्हें आज तक नहीं टूट सके, अब टूटना मुश्किल 3

Image result for बापू नाडकर्णी

12 जनवरी 1964 को भारतीय स्पिनर बापू नाडकर्णी ने इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई के मैदान में लगातार 21 मॆड्न ओवेर फेंकने का रिकॉर्ड बनाया था उन्होंने 32 ओवेर मे 27 मॆड्न ओवर डाले थे और 5 रन दिए थे. बापू ने भारत के लिए 41 टेस्ट मैच खेले हैं , जिसमे उन्होंने 88 विकेट लिए थे.

सुनील गावस्कर ने किया बड़ा खुलासा ब्रैडमैन को सचिन नहीं बल्कि इस भारतीय खिलाड़ी के खेल में थी दिलचस्पी

3.सौरभ गांगुली एकमात्र ऐसे खिलाड़ी है जिनके नाम ODI में लगातार चार मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीतने का रिकॉर्ड

Image result for सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट के “दादा” सौरव गांगुली के नाम वैसे तो बहुत से रिकॉर्ड दर्ज हैं, लेकिन उनके नाम एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज हैं, जिसे आज तक कोई भी तोड़ नहीं पाया हैं. दादा को  ने 1997 में पाकिस्तान के खिलाफ लगातार 4 मैच में मैन ऑफ द मैच का अवार्ड अपने नाम किया था.दादा भारत के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक हैं. उनकी  कप्तानी  भारत 2003 के वर्ल्ड कप में फाइनल तक पहुंचा था. जहाँ उसे ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा था. गांगुली ने भारत के लिए 11000 से ज्यादा रन भी बनाए हैं.