आईसीसी विश्वकप 2019ः एसोसिएट देशों के वो तीन खिलाड़़ी जो हमेशा के लिए याद किए जाएंगे

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

आईसीसी विश्वकप 2019ः एसोसिएट देशों के वो तीन खिलाड़ी जिनको कभी नहीं भूल सकेगा क्रिकेट जगत 

आईसीसी विश्वकप 2019ः एसोसिएट देशों के वो तीन खिलाड़ी जिनको कभी नहीं भूल सकेगा क्रिकेट जगत

विश्वकप एक ऐसा इवेंट है, जिसमें सभी टीमें पूरे जोर-शोर से खेलने का प्रयास करती है. कभी-कभी देखा जाता है कि छोटी टीम बड़ी टीम को हराने में सक्षम हो जाता हैं, जो आगे के समीकरण को बिगाड़ देती है. हालांकि इस विश्वकप में कोई भी एसोसिएट टीम शामिल नहीं है, लेकिन समय-समय पर इन टीमों ने विश्वकप के मैचों में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है.

स्काटलैंड, नीदरलैंड, बरमूडा, केन्या जैसी टीमों ने क्षमता के अनुरुप प्रर्दशन कर सभी को चौंकाया है. आज हम उन तीन खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे जिनको क्रिकेट के मामले में हमेशा याद किया जाएगा.

केविन ओ ब्रायनः

केविन ओ ब्रायन जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ शतक जमाकर अपनी अलग पहचान बनाई. इन्होंने आयरिश क्रिकेट के उत्थान के लिए बड़ी भूमिका निभाई. हालांकि आयरलैंड 2011 विश्वकप में क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई, लेकिन मात्र 63 गेंदो पर 113 रन बनाकर केविन ओ ब्रायन ने सबका दिल जीत लिया. लेकिन उनकी इस पारी के बदौलत इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम को घुटने टेकने पर मजबूर होना पड़ा.

ड्वेन लेवरॉक

बरमूडा टीम ने 2007 के विश्वकप में क्वालीफाई करके इतिहास बनाया था. 2007 विश्वकप जो कि विंडीज की मेजबानी में हो रहा था. पहले मैच में श्रीलंका से हार के बाद बरमूडा की टीम भारत के सामने थी, इस मैच में बरमूडा ने सकारात्मक शुरुआत की.

19 मार्च 2007 को हुए इस पल को इतिहास में जगह मिल गई. जब स्लिप पर फील्डिंग कर रहे ड्वेन लेवरॉक ने मलाची जोन्स की गेंद पर राबिन उथप्पा के कैच को पकड़ा. वह इनके जीवन का यादगार पल था, जिसने भी उनकी इस कैच की कला को देखा, वह हैरान रह गया.

सुल्तान जरवानीः

संय़ुक्त अरब अमीरात ने साल 1996 में विश्वकप में प्रवेश किया. कप्तान सुल्तान जरवानी जो कि निडरता के लिए जाने जाते थे. उन्होंने बिना हेलमेट के मैदान पर उतरने का फैसला किया. दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज एलन डोनाल्ड ने गेंदबाजी के दौरान एक बाउंसर से घायल कर दिया, कुछ समय तो लगा कि उनको मैदान से बाहर जाना पड़ेगा, लेकिन वह कुछ देर बाद उठे और फिर से बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हो गएं, इस दौरान भी उन्होंने हेलमेट का प्रयोग नहीं किया. मैच के बाद उनको अस्पताल ले जाना पड़ा.

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया हो तो, प्लीज इसे लाइक करें. अपने दोस्तों तक ये खबर पहुंचाने के लिए शेयर करे और साथ ही अगर कोई सुझाव देना चाहते है तो प्लीज कमेंट करें. अगर आपने अभी तक हमारे पेज को लाइक नहीं किया है. तो कृपया अभी लाइक करें , जिससे लेटेस्ट अपडेटस आपतक पहुंचा सके.

Related posts