फिल सिमंस और अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के बीच आई दरार, नहीं चल रहा टीम में कुछ भी सही 1

आईसीसी एकदिवसीय विश्व कप के शुरू होने से पहले ऐसा माना जा रहा था कि अफगानिस्तान की टीम जरुर इस टूर्नामेंट में कुछ बड़ा धमाका करती नजर आएगी. टीम ने वर्ल्ड कप के अभ्यास मैच में पाकिस्तान को हराकर इस बात को साबित भी किया, लेकिन जैसे ही टूर्नामेंट का आगाज हुआ एक बदली बदली सी अफगानिस्तान क्रिकेट टीम मैदान पर नजर आई.

टीम ने अभी तक कुल पांच मैच खेले हैं और सभी में टीम को करारी और शर्मनाक हार का मुहं देखना पड़ा हैं. अफगानिस्तान की टीम सेमीफाइनल की रेस से भी बाहर हो चुकी हैं.

टीम में पड़ी दरार 

फिल सिमंस और अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के बीच आई दरार, नहीं चल रहा टीम में कुछ भी सही 2

अफगानिस्तान क्रिकेट टीम मौजूदा समय में अपने खराब प्रदर्शन से ही नहीं, बल्कि काफी टीम में लगातार हो रही राजनीति से भी काफी परेशान नजर आ रही हैं. हाल में ही इंग्लैंड के खिलाफ मिली हार के बाद इस बात पर मुहर लग गयी कि अफगानिस्तान क्रिकेट टीम में दरार पड़ चुकी हैं.

दरअसल इंग्लैंड के खिलाफ मिली हार के बाद अफगानिस्तान टीम के पूर्व तेज गेंदबाज और मौजूदा समय में टीम मुख्य चयनकर्ता दवलत अह्मद्जई ने पत्रकार से बात जरते हुए कहा, ‘टीम के निराशाजनक प्रदर्शन का कारण कोचिंग का होना रहा हैं. टीम के कोच फिल सिमंस ने टीम को विश्व कप के लिए अच्छे से तैयार नहीं किया.’

सिमंस ने दिया मुहंतोड़ जवाब 

फिल सिमंस और अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के बीच आई दरार, नहीं चल रहा टीम में कुछ भी सही 3

अब टीम के मुख्य कोच फिल सिमंस ने इस पर अपनी चुप्पी तोड़ी और ट्वीट करते हुए कहा, ‘अभी टीम टूर्नामेंट के बीच में हैं और यह कोशिश कर रही हैं कि विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन करे. एक बार विश्व कप खत्म हो जाए तब मैं अफगानिस्तान के लोगों को बताऊंगा कि दवलत अह्मद्जई किस तरह हमारी टीम की तैयारियों में दखलंदाजी देते हैं और असगर अफगान के केस में भी उनका कितना बड़ा हाथ रहा.’

ठीक पहले बदला गया था कप्तान 

फिल सिमंस और अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के बीच आई दरार, नहीं चल रहा टीम में कुछ भी सही 4

आप सभी को बता दे कि विश्व कप शुरू से ठीक पहले अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने असगर अफगान को कप्तानी से हटाकर गुलबदीन नैब को नया कप्तान नियुक्त किया था. इसी बात का जिक्र फिल सिमंस ने अपने ट्वीट में भी किया. जब असगर को कप्तानी से हटाया गया था, तब इस बात की आलोचना टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद नबी और स्पिन गेंदबाज राशिद खान ने भी की थी.

Akhil Gupta

Content Manager & Senior Writer at #Sportzwiki, An ardent cricket lover, Cricket Statistician.