अब सिर्फ इतने खिलाड़ियों को ही रिजर्व रख सकती है आईपीएल टीम

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

IPL UPDATE: धोनी-कोहली के नीलामी पर नहीं हुआ कोई फैसला अब सिर्फ इतने खिलाड़ियों को रिजर्व रख सकती है आईपीएल फ्रेंचाइजी 

IPL UPDATE: धोनी-कोहली के नीलामी पर नहीं हुआ कोई फैसला अब सिर्फ इतने खिलाड़ियों को रिजर्व रख सकती है आईपीएल फ्रेंचाइजी

एक तरफ बुधवार को दिल्ली में क्रिकेट में सुधारों को लेकर क्रिकेट प्रशासक समिति ने बैठक की, तो वहीं दूसरी तरफ इण्डियन प्रीमियर लीग के गर्वनिंग काउंसिल की बैठक भी इसी दिन आयोजित की गयी,जिसमें राइट टू मैच विकल्प और खिलाड़ियों को अपनी टीम में बनाए रखने को लेकर गहरी चर्चा की गयी।

आम सहमति नहीं बना सकी फ्रेंचाइजी

IPL UPDATE: धोनी-कोहली के नीलामी पर नहीं हुआ कोई फैसला अब सिर्फ इतने खिलाड़ियों को रिजर्व रख सकती है आईपीएल फ्रेंचाइजी 1

बीसीसीआई ने सभी आठ फ्रेचांइजी को एक ही मंच पर लाने की कोशिश कर रही है ताकि राइट टू मैच जैसे विकल्प पर फ्रेंचाइजी आम सहमति बना सके।

सूत्रों के हवाले यह खबर आयी है कि एक फ्रेंचाइजी के अधिकारी ने अपने नाम को जाहिर ने करने पर बताया कि, वे नहीं चाहते कि राॅयल्स और सुपर किंग्स राइट टू मैच कार्ड का इस्तेमाल नहीं कर सके,ताकि उनके पुराने खिलाड़ियों को अपनी टीम में वापीस पाने अन्य टीमों के लिए दिक्कत का कारण न बन सके।

मिलेगी दो खिलाड़ियों को वापसी की ताकत

IPL UPDATE: धोनी-कोहली के नीलामी पर नहीं हुआ कोई फैसला अब सिर्फ इतने खिलाड़ियों को रिजर्व रख सकती है आईपीएल फ्रेंचाइजी 2

टीओआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि, 21 नंवबर को आईपीएल और फ्रेचाइजी मालिकों की बीच हुई बैठक में यह बात निकल कर सामने आयी की सभी टीमों को दो खिलाड़ियों को बनाए रखने की अनुमति दी जाएगी,हालांकि अब तक इसमें कोई भी अन्तिम फैसला नहीं लिया जा सका।

जानें क्या होता है ‘राॅइट टू मैच’

IPL UPDATE: धोनी-कोहली के नीलामी पर नहीं हुआ कोई फैसला अब सिर्फ इतने खिलाड़ियों को रिजर्व रख सकती है आईपीएल फ्रेंचाइजी 3

राइट टू मैच कार्ड किसी भी टीम को एक अवसर देता है,जिसमें वह अपने प्लेयर की वापसी खुद के टीम में करने का अधिकार रखता है। यह फैसला तब लिया जा सकेगा,जब वह प्लेयर नीलामी के दौरान किसी अन्य टीम द्वारा खरीद ली गयी है।

IPL UPDATE: धोनी-कोहली के नीलामी पर नहीं हुआ कोई फैसला अब सिर्फ इतने खिलाड़ियों को रिजर्व रख सकती है आईपीएल फ्रेंचाइजी 4

हालांकि इसके लिए उसे राइट टू मैच कार्ड का उपयोग करना पड़ता है और दूसरी टीम के बोली के बराबर की राशि देनी पड़ती है। वैसे तो यह बेहद पेचीदा प्रकिया है, फिर भी इससे उन टीमों को फायदा मिल सकता है,जो किसी भी हालत में अपने महत्वपूर्ण खिलाड़ियों को खोना नहीं चाहते हैं।

Related posts

Leave a Reply