पिता गैस वेंडर, बड़ा भाई ऑटो ड्राइवर, खुद पोछा लगाकर बना क्रिकेटर.....अब 124 की औसत से रन बना टीम इंडिया में एंट्री का ठोका दावा 1

भारतीय घरेलू क्रिकेट की प्रसिद्ध विजय हजारे ट्रॉफी 2022 (Vijay Hazare Trophy 2022) में कई युवा खिलाड़ी शानदार प्रदर्शन करते हुए तहलका मचा रहे है। जहां हैदराबाद और यूपी के बीच दिल्ली के जामिया मिलिया क्रिकेट ग्राउंड में खेला गया। जहां यूपी टीम को 7 विकेटों से शानदार जीत मिली। इस मैच में रिंकू सिंह (Rinku Singh) ने मैच विनिंग पारी खेली और टीम को जीत दिलाई। जिसके बाद रिंकू सिंह (Rinku Singh) सोशल मीडिया पर काफी वाहवाही लूट रहे है। आइये इस आर्टिकल में बताते है रिंकू सिंह का साल 2021 से अब तक का प्रदर्शन…

रिंकू सिंह ने हैदराबाद के खिलाफ खेली अर्धशतकीय पारी

दरअसल विजय हजारे ट्रॉफी 2022 में हैदराबाद और यूपी के बीच दिल्ली के जामिया मिलिया क्रिकेट ग्राउंड में मुकाबला आज यानि 18 नवंबर को खेला गया। इस मैच में उत्तर प्रदेश ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने वाले का फैसला किया। वहीं पहले बल्लेबाजी करने आई हैदराबाद टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 256 रन बनाए और उत्तर प्रदेश को 257 रनों का टारगेट दिया।

Advertisment
Advertisment

इसके जवाब में उत्तर प्रदेश टीम ने 48.4 ओवर में ही लक्ष्य हासिल कर लिया और टीम को 7 विकेटों से शानदार जीत मिली। इस मैच में रिंकू सिंह ने मैच विनिंग पारी खेली और टीम को जीत दिलाई। जिसके बाद रिंकू सिंह (Rinku Singh) ने भी सोशल मीडिया पर काफी वाहवाही लूट ली। बता दें रिंकू ने 257 रनों के लक्ष्य हासिल करने में अहम योगदान दिया, उन्होंने 48 गेंदों पर 78 रनों की नाबाद पारी खेली, जिसमें 2 चौके और 4 छ्क्के शामिल रहे। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 162.50 का रहा। उनके अलावा आर्यन जुयाल ने भी तूफानी बल्लेबाजी की और शतकीय पारी खेली।

Rinku Singh हर साल विजय हजारे ट्रॉफी के सुपरस्टार

Rinku Singh का विजय हजारे ट्रॉफी 2021 का प्रदर्शन
Rinku Singh का विजय हजारे ट्रॉफी 2021 का प्रदर्शन

रिंकू सिंह ने अब तक के विजय हजारे टूर्नामेंट के 4 मैचों में 124 की बेहतरीन औसत के साथ 248 रन बना लिए हैं और इस दौरान इनका स्ट्राइक रेट 95.38 का रहा है. बाएं हाथ के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज रिंकू सिंह (Rinku Singh) ने विजय हजारे ट्रॉफी में साल 2021 में शानदार प्रदर्शन किया था। जहां उन्होंने पिछले साल 6 पारियों में 379 रन ठोके। जिसमें उनके बल्लेबाजी का औसत 94.75 रहा। बता दें रिंकू सिंह ने टूर्नामेंट में एक शतक और 4 अर्धशतक लगाए। उनके बल्ले से 36 चौके और 6 छक्के निकले। रिंकू सिंह विजय हजारे ट्रॉफी में 2021 से 104 की औसत और 92 की स्ट्राइक रेट से 627 रन बना चुके हैं।

कोचिंग सेंटर में पोछा लगाते थे रिंकू सिंह

रिंकू एक बेहद ही गरीब परिवार के थे। जिस गेंद को आज वह बाउंड्री के पार मार रहे हैं कभी उनके पास एक मामूली पांच रुपए की गेंद भी खरीदने के पैसे नहीं थे। उनके पिता एक साधारण गैस डिलीवरी या फिर गैस सिलेंडर वेंडर हैं। उनके चार और भाई हैं। कोई ऑटो चलाता था तो कोई कहीं मजदूरी करता था। दो वक्त की रोटी के लिए रिंकू के घर में बड़ी मेहनत की जाती थी। इसी बीच रिंकू सबसे छोटे थे उनके पिता उनके क्रिकेट खेलने पर गुस्सा करते थे लेकिन वह किसकी सुनते। बचपने से ही मानो उनका दिमाग भगवान ने ऐसा बना दिया हो।

ऐसे ही किसी दिन काम की तलाश में रिंकू सिंह को काम मिला। वह किसी कोचिंग सेंटर में पोछा लगाते थे। लेकिन क्रिकेट के लिए जुनून उनके मन में बचपन से था। अचानक रिंकू ने नौकरी छोड़ी और क्रिकेट की तरफ बढ़ने का मन बना लिया। उन्हें एहसास हो गया था कि क्रिकेट ही उनके परिवार के दुखों को दूर करेगा।

Advertisment
Advertisment