विराट कोहली
इमेज सूत्र : ट्वीटर

भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ चेन्नई में खेले गए पहले एकदिवसीय मैच में पंत के बल्ले से अर्धशतक निकला और विशाखापत्तनम में उसने छोटी मगर तूफानी पारी खेली और एक बार फिर पुराना ऋषभ पंत नजर आया. लेकिन तीसरे मैच में एक बार फिर पंत खराब शॉर्ट सिलेक्शन के चलते जल्दी आउट हो गए.

ऋषभ पंत मजबूती से करेंगे वापसी

ऋषभ पंत

ऋषभ पंत का फॉर्म पिछले लंबे वक्त से खास चर्चा का विषय है. अब भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा,

यह सब कुछ का एक संयोजन है. वह युवा है और अभी भी एक काम में प्रगति है. लेकिन उसके लिए आगे बहुत समय है.

चूंकि वह कम उम्र में भारतीय टीम में आ गए थे, इसलिए उन्होंने ज्यादा घरेलू क्रिकेट नहीं खेला है. यह भी एक कारण है. मुझे यकीन है कि वह मजबूती से टीम में वापसी करेंगे. यह भी अच्छा है कि यह उनके करियर की शुरुआत में हुआ है.”

ऋषभ पंत को विकेटकीपिंग में सुधार के लिए मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने दिया सुझाव 1

प्रेशर के चलते हो रही गलतियां

ऋषभ पंत

विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत ने टेस्ट टीम में जगह खो दी. उनकी जगह बेहतरीन विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा को टीम में बतौर विकेटकीपर-बल्लेबाज शामिल कर लिया गया. हालांकि पंत अभी भी 15 सदस्यीय टीम का हिस्सा हैं. अब सीमित ओवर क्रिकेट में भी उनकी जगह खतरे में  नजर आ रही है क्योंकि टीम में संजू सैमसन के रूप में दूसरा विकल्प मौजूद है. पंत की विकेटकीपिंग के बारे में प्रसाद ने कहा,

यदि आप बल्लेबाजी से संघर्ष करते हैं तो उसका असर आपकी विकेटकीपिंग पर पड़ता है और विकेटकीपिंग में संघर्ष करते हैं तो बल्लेबाजी में संघर्ष करते हैं. जब आप प्रेशर में होते हैं तो आप आप कठोर हो जाते हैं.

आपकी बाहें, कंधे, बाइसेप्स, फोरआर्म्स – सब कुछ सख्त हो जाते हैं. शायद इसलिए गेंद कठोर हाथों की वजह से बाहर निकलने लगती है.”

इसके लिए सुझाव देते हुए कहा,

 “जब आप रिलैक्स होते हैं, तो जिस तरह से आप गेंद को पकड़ सकते हैं, वैसे दबाव में नहीं पकड़ सकते हैं.

आपको बता दें, पंत आगामी श्रीलंका के खिलाफ टी20 और ऑस्ट्रेलिया के साथ वनडे घरेलू सीरीज में टीम का हिस्सा हैं.