//

ऋषभ पंत ने की विराट कोहली की तारीफ़, तो धोनी के बारे में बोल गये ये बात

ऋषभ पन्त

भारतीय क्रिकेट टीम के महान कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी अब अपने करियर के आखिरी पड़ाव पर हैं। भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज महेन्द्र सिंह धोनी ने अपने करियर में अद्भूत सफलता हासिल की लेकिन अब उनके उत्तराधिकारी की भारतीय टीम को जरूरत आन पड़ी है।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

ऋषभ पंत ने महेन्द्र सिंह धोनी से सीखने को लेकर कही बड़ी बात

महेन्द्र सिंह धोनी के उत्तराधिकारी के रूप में सबसे आगे ऋषभ पंत को माना जा रहा है और इस युवा प्रतिभाशाली विकेटकीपर बल्लेबाज ने एक के बाद एक तीनों ही फॉर्मेट में अपनी जगह को बना लिया है।

ऋषभ पंत ने की विराट कोहली की तारीफ़, तो धोनी के बारे में बोल गये ये बात 1

दिल्ली के 21 साल के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत में जबरदस्त प्रतिभा मौजूद है लेकिन उनके लिए सबसे खास बात ये रही कि उन्होंने अब तक भारतीय टीम में अपना सफर तय किया है जिसमें महेन्द्र सिंह धोनी का मार्गदर्शन मिला है। पंत ने महेन्द्र सिंह धोनी से मिले मार्गदर्शन और उनके साथ खेलने को लेकर अपनी राय व्यक्त की।

धोनी हमेशा रहे हैं मेरे लिए प्रेरणा

ऋषभ पंत को एमएस धोनी से प्रेरणा को लेकर सवाल किया गया जिस पर पंत ने कहा कि

ऋषभ पंत ने की विराट कोहली की तारीफ़, तो धोनी के बारे में बोल गये ये बात 2

“जिस तरह से वो खेल को पढ़ते हैं, वो पहली चीज है। फिर, वो दबाव की स्थितियों में हमेशा शांत रहते हैं। उनसे सीखने के लिए कई चीजें हैं। और मैदान से दूर वो हमेशा मददगार होते हैं। मैं सीनियर्स से हमेशा सीखता हूं।”

टेस्ट क्रिकेट में होता है सीखने का बड़ा मौका

ऋषभ पंत ने वनडे और टी20 से पहले टेस्ट में विश्वास दिखाया है और जगत को सुनिश्चित किया है। ऐसे में उनसे सवाल किया गया कि उन्होंने आमतौर पर होने वाली स्थिति के उलट टेस्ट में जगह को अच्छा कर लिया है तो पंत ने कहा

“मैं ज्यादा फॉर्मेट के बारे में नहीं सोचता हूं। हां, शायद मदद मिली है कि मैंने पहले टेस्ट क्रिकेट खेला। मुझे टेस्ट क्रिकेट खेलने का अच्छा अनुभव मिला। लोग कहते थे कि टेस्ट क्रिकेट सबसे मुश्किल है। इसलिए मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला। किस तरह से पारी को बनाना है और क्रम पर खेलना है। पुछल्लों के साथ कैसे बल्लेबाजी करनी है।”

ऋषभ पंत ने की विराट कोहली की तारीफ़, तो धोनी के बारे में बोल गये ये बात 3

“टेस्ट क्रिकेट में हर दिन सीखने को मिलता है। खासकर तब जब आपको पूरे दिन मैदान में बल्लेबाजी करने के बाद बाहर घूमना पड़ता है। वो एक अलग अनुभव है। खासकर वनडे और टी20 में चीजें बहुत तेजी से होती है। मैं सिर्फ इस बात पर ध्यान केन्द्रित करता हूं कि मुझे क्या करना है और मुझे हर दिन क्या सीखना है। मेरे पास केवल यही एक फोकस है। और जितना ज्यादा आप इंटरनेशनल लेवल पर खेलते हैं और जितना ज्यादा अनुभव हासिल करते हैं उतना ही आप सोचते हैं। और उतना ही ज्यादा आप इंटरनेशनल लेवल पर खेलते हैं। तो आपको अनुभव भी उतना ज्यादा ही हासिल होता है।”

एक विकेटकीपर के लिए कप्तानी रहती है आसान

बहुत ही कम समय में ही दिल्ली की प्रथम श्रेणी टीम की कप्तानी मिलने को लेकर पंत ने कहा कि

ऋषभ पंत ने की विराट कोहली की तारीफ़, तो धोनी के बारे में बोल गये ये बात 4

“जब मुझे पहली बार दिल्ली की कप्तानी करने का मौका मिला, तो मैं बहुत खुश था। विकेटकीपर के लिए फील्ड को सजाना आसान होता है। किसी दूसरी स्थिति में सभी कोणों का आकलन करना आसान नहीं है। साथ ही विकेटकीपर के रूप में आपको खेल की स्थिति को पढ़ना और बल्लेबाज को भी पढ़ना होगा। एक विकेटकीपर वैसे भी गेंदबाज को नियमित फील्डर की तुलना में ज्यादा मदद करता है। इसलिए जब मैं कप्तान बना तो ये स्वाभाविक रूप से मेरे पास आया।”

 

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे जल्दी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आप तक पहुंचा सके।