रोबिन उथप्पा ने 2007 टी20 विश्व कप को किया याद और कहा कैच छो

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

रोबिन उथप्पा ने कहा उस मैच से पहले कैच छोड़ने के लिए जाने जाते थे श्रीसंत 

रोबिन उथप्पा ने कहा उस मैच से पहले कैच छोड़ने के लिए जाने जाते थे श्रीसंत

दक्षिण अफ्रीका में 2007 विश्व कप के फाइनल मैच की याद आज भी ताजा है. श्रीसंत ने उस मैच में मिस्बाह उल हक का कैच पकड़ कर भारतीय टीम को खिताब दिलाया था. अब उसी टीम का हिस्सा रहे बल्लेबाज रोबिन उथप्पा ने तेज गेंदबाज एस श्रीसंत के कैच के बारें में कहा की वो टीम में कैच छोड़ने के लिए जाने जाते हैं.

रोबिन उथप्पा ने श्रीसंत के 2007 विश्व कप के कैच को किया याद

रोबिन उथप्पा

भारत और पाकिस्तान के बीच 2007 टी20 विश्व कप का फाइनल खेला जा रहा था. जहाँ पर मैच एक समय फंस गया था. भारत को जीत के लिए एक विकेट चाहिए था. जबकि पाकिस्तान को 4 गेंद पर 6 रन चाहिए थे. उसी समय मिस्बाह उल हक का कैच पकड़ कर एस श्रीसंत ने भारतीय टीम को खिताब दिला दिया था. उस विश्व कप में भारतीय टीम का हिस्सा रहे रोबिन उथप्पा ने उस कैच को याद करके बीबीसी दूसरा पॉडकास्ट में कहा कि

” ओवर की शुरुआत में मैं लॉन्ग ऑन पर था. मुझे याद है की पहली गेंद पर जोगी ने एक वाइड फेंकी और सोच रहा था की क्या हो रहा है. मैं वहां पर खड़ा होकर बस प्रार्थना कर रहा था. हर गेंद पर 15वें ओवर से, मैं बस यही प्रार्थना कर रहा था कि ’बस ख़िताब हमें मिल जाए’.”

मिस्बाह उल हक के उस शॉट को याद किया रोबिन उथप्पा ने

रोबिन उथप्पा ने कहा उस मैच से पहले कैच छोड़ने के लिए जाने जाते थे श्रीसंत 1

पाकिस्तान के बल्लेबाज मिस्बाह उल हक के उस शॉट को याद करते हुए रोबिन उथप्पा ने कहा कि

” जब पहली गेंद पर कुछ नहीं हुआ तो मैं बस सोच रहा था की अगली गेंद पर बस छक्का नहीं जाएँ. उसकी अगली गेंद पर ही उन्होंने छक्का मार दिया. मैं ऐसा था की हम लोग अभी भी कर सकते हैं. उस समय मैच पाकिस्तान की तरफ जा रहा था और मैं अपनी टीम का समर्थन कर रहा था. मिस्बाह ने एक स्कूप शॉट मारा, और मैंने देखा कि यह बहुत ऊपर जा रहा है. मैंने देखा की यह सच में बहुत दूर नहीं जा रहा है. फिर मैंने देखा कि शॉर्ट फाइन लेग पर फील्डर कौन था, और मैंने पाया कि वहां पर श्रीसंत था. उस समय तक टीम के अंदर उसे कैच छोड़ने के लिए जाना जाता था, खासकर आसान कैच हो. मैंने उसे आसान कैच छोड़ते हुए देखा था.”

श्रीसंत के लिए यादगार है वो कैच

रोबिन उथप्पा ने कहा उस मैच से पहले कैच छोड़ने के लिए जाने जाते थे श्रीसंत 2

तेज गेंदबाज एस श्रीसंत के उस कैच को याद करते हुए ही रोबिन उथप्पा ने कहा कि

” जैसे ही मैंने श्रीसंत को देखा, मैंने विकेटों की तरफ दौड़ना शुरू कर दिया, और मैंने प्रार्थना करना शुरू कर दिया ‘कृपया भगवान, उसे इस एक पर पकड़ लेने दें’. यदि आप उसे उस कैच को लेते हुए देखते हैं, तो आप देख सकते हैं कि जब गेंद वास्तव में उसके हाथों में आती है, तो वो वहां देख रहा होता है. इसलिए, मैं अभी भी वास्तव में विश्वास करता हूं कि यह कुछ भी नहीं था, लेकिन भाग्य ने हमें उस विश्व कप में जीत दिलाई.”

 

Related posts