/

सोशल मीडिया में आलोचना करने वालों को शतक लगाने के बाद रोहित शर्मा ने ये कहकर दिया करारा जवाब

रोहित शर्मा ने पांचवे वनडे मैच में भारतीय टीम को अपने शानदार शतक की बदौलत जीत तो दिलाई ही साथ में भारतीय टीम ने सीरीज में 4-1 की अजेय बढ़त भी ले ली है. पांचवे वनडे मैच में 115 रन का शानदार शतक लगाने वाले रोहित शर्मा मैच खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में आये और उन्होंने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई रोचक बातें बोली.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

2013 से पहले जो हुआ है आप उस बारे में मेरे से सवाल ना पूछे

सोशल मीडिया में आलोचना करने वालों को शतक लगाने के बाद रोहित शर्मा ने ये कहकर दिया करारा जवाब 1

जब रोहित शर्मा से उनके 2013 की बल्लेबाजी के बारे में सवाल पूछा गया तो रोहित ने कहा,

“2013 के बाद से मेरी बल्लेबाजी पूरी तरह से चेंज हो गई है. 2013 से पहले में मिडिल आर्डर में बल्लेबाजी करता था, लेकिन 2013 के बाद से मैंने ओपन करना शुरू किया है. इसलिए जो भी 2013 से पहले हुआ है आप उस बारे में मेरे से सवाल ना पूछे 2013 के बाद जो हुआ है आप उस बारे में मुझसे सवाल पूछे.”

मानसिक रूप से अच्छा था

सोशल मीडिया में आलोचना करने वालों को शतक लगाने के बाद रोहित शर्मा ने ये कहकर दिया करारा जवाब 2

अपनी खराब फॉर्म को लेकर रोहित ने कहा,

“मैं ये मानता हूं, कि मेरे पहले 3-4 मैच अच्छे नहीं गये, लेकिन ऐसा सभी प्लेयर के साथ होता है, लेकिन मैं मानसिक रूप से अच्छा था और नेट में भी अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था. अगर आप मेरे शुरूआती चार मैच के आउट होने के तरीके देखोगे तो वह एक तरीके के नहीं थे. सभी अलग-अलग तरीके के थे. इसलिए मुझे पता था, कि मुझे मानिसक रूप से मजबूत रहना है और आज मेरी पारी से सीरीज जीते है तो इससे बेहतर मेरे लिए कुछ नहीं हो सकता.”

मेरा ध्यान लोगो की बातों में नहीं था 

सोशल मीडिया में आलोचना करने वालों को शतक लगाने के बाद रोहित शर्मा ने ये कहकर दिया करारा जवाब 3

सोशल मीडिया में अपनी हुई आलोचनाओं को लेकर रोहित ने कहा,

“मेरे बारे में सोशल मीडिया में बात करने को लेकर लोगो के पास विशेषाधिकार है. मैं जनता हूं कि लोग मेरे बारे में सोशल मीडिया में बात कर रहे थे, लेकिन मेरा दिमाग इसके बिलकुल विपरीत था और मुझे यकीन था, कि मैं अपने देश के लिए कुछ खास करूँगा और आज मैंने ऐसा ऐसा किया भी है.

कोई युवा खिलाड़ी जरुर इन सब चीजों के बारे में सोचता है, लेकिन मै अपनी इस उम्र को पार कर गया हूँ, इसलिए मैंने इस बारे में कुछ नहीं सोचा, कि लोग मैदान के बाहर मेरे बारे में क्या बात कर रहे है या क्या सोच रहे है. मैंने पहले भी इन चीजों को मैनेज किया है और इस बार भी मैंने इसे अच्छे से मैनेज किया. एक खिलाड़ी के करियर में अच्छे व बुरे दोनों दौर आते है.: