रोहित शर्मा की तीन सबसे बड़ी मजबूती और कमजोरी

Trending News

Blog Post

एडिटर च्वाइस

ये है रोहित शर्मा की 3 सबसे बड़ी कमजोरी और मजबूती, अगर इन कमजोरियों से पार पा ले रोहित तो बन जायेंगे कोहली से बेहतर बल्लेबाज 

ये है रोहित शर्मा की 3 सबसे बड़ी कमजोरी और मजबूती, अगर इन कमजोरियों से पार पा ले रोहित तो बन जायेंगे कोहली से बेहतर बल्लेबाज

भारतीय वनडे टीम के उप कप्तान रोहित शर्मा दुनिया के एक लौते बल्लेबाज हैं जिसने वनडे क्रिकेट में एक-दो बार नहीं बल्कि तीन बार दोहरा शतक लगाया हो। वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत स्कोर बनाने का रिकॉर्ड भी रोहित शर्मा के नाम पर ही है।

रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ एक मैच में अकेले 264 रन की पारी खेल कर विश्व रिकॉर्ड बनाया था। आमतौर पर वनडे क्रिकेट में 264 रन का स्कोर एक सम्मानजनक स्कोर माना जाता है। उस मैच में भी श्रीलंका की पूरी टीम अकेले रोहित शर्मा के रन से हार गई थी।

रोहित शर्मा की मजबूती

इसके अलावा भी रोहित शर्मा ने दो बार दोहरा शतक लगाया है। रोहित शर्मा जब लंबी पारी खेलते हैं तो गेंदबाजों के लिए उन्हें रोकना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन हो जाता है। रोहित जैसे-जैसे बड़े स्कोर बनाते जाते हैं उनका स्ट्राइक रेट बड़ता चला जाता है। सौ रन पूरा करने के बाद तो रोहित अपने टॉप गियर में आ जाते हैं। उसके बाद उनके लिए दोहरा शतक लगाना आसान हो जाता है।

दर्शक तो उनसे वनडे में तिहरा शतक लगाने की भी उम्मीद करने लगते हैं। हालांकि बड़े-बड़े क्रिकेट दिग्गजों का भी मानना है कि अगर कोई वनडे क्रिकेट में तिहरा शतक लगाने का कारनामा कर सकता है तो उसका नाम रोहित शर्मा है। हम आपको रोहित शर्मा की तीन सबसे मजबूत पक्ष के बारे में बताते हैं…

  1. आक्रामक बल्लेबाजी

आक्रामक बल्लेबाजी निश्चित तौर पर रोहित शर्मा का मजबूत पक्ष है। पहले ओवर से ही रोहित शर्मा गेंदबाज और विपक्षी टीम को दबाव में लाने का प्रयार करते हैं। रोहित को अगर पहली बॉल भी लूज मिलती हैं, तो वो उसे बाउंड्री के पार पहुंचा देते हैं।

2. दबाव ना लेना

टीम किसी भी पोजिशन में हो रोहित शर्मा अपने ऊपर दबाव नहीं लेते हैं। वो अपना नेचुरल गेम खेलना पसंद करते हैं। जिसकी वजह से कई बार 350 से ज्यादा और बड़े-बड़े स्कोर भी टीम इंडिया चेज़ करने में सफल रही है। ऐसे में टी-20 निदहास ट्रॉफी त्रिकोणीय सीरीज में देखना दिलचस्प होगा कि क्या रोहित शर्मा बिना किसी दबाव के बल्लेबाजी कर पाते हैं।

3. गैप ढूंढना

रोहित शर्मा मैदान पर जब अपना क्लास दिखाते हैं तो फिल्डर और गेंदबाज के पास उसका कोई जबाव नहीं होता। रोहित शर्मा जितने लंबे-लंबे छक्के लगाने में माहिर हैं उतने ही माहिर गैप में शॉट खेलकर बांउड्री मारने में भी हैं। गैप में शॉट खेलकर रोहित टीम को लगभग हर ओवर में बाउंड्री दिलाते रहते हैं और टीम दबाव में नहीं आती है।

रोहित शर्मा की कमजोरी

रोहित शर्मा की कुछ कमजोरियां भी हैं जिसकी वजह से वो कई बार जल्दी आउट हो जाते हैं। सचिन के रिटायरमेंट के बाद जब उनसे पूछा गया कि उनके रिकॉर्ड को कौन तोड़ सकता है को सचिन ने रोहित और विराट का नाम लिया था। विराट को तो अब सचिन के रिकॉर्ड को तोड़ने की बात काफी ज्यादा होने लगी है, वहीं रोहित शर्मा इस रेस में पीछे हो गए। इसका कारण उनकी कुछ कमजोरियां हैं। हम आपको रोहित शर्मा की तीन कमजोर पक्ष के बारे में बताते हैं…

  1. रन ना मिलने पर दबाव

रोहित शर्मा अगर क्रिज पर कुछ गेंदों पर रन नहीं बना पाते है, लगातार बीट हो जाते हैं तो फिर वो दबाव में आ जाते हैं। ये रोहित शर्मा की सबसे बड़ी कमजोरी है। रोहित शर्मा को अगर दो ओवर में रन ना बनाने दिया जाए, तो वो खुद अपना विकेद देकर पवेलियन लौट जाते हैं।

2. रूम ना मिलने पर परेशान होना

रोहित शर्मा को अगर गेंदबाज रूम देता है तो वो उसपर कहर बरपा देते हैं, लेकिन अगर उनको रूम ना मिले तो गेंदबाज उनके ऊपर कहर बरपा देते हैं। यदि रोहित शर्मा को रूम ना दिया जाए तो वह आसानी से सामने वाली टीम को अपना विकेट देकर पवेलियन लौट जाते हैं.

3. सिम गेंद पर परेशानी

सीधी गेंद या भारतीय पिचों पर तो रोहित शर्मा गेंदबाज के लिए एक बुरे सपने की तरह हैं। वहीं अगर विदेशी पिचों या फिर जहां पर भी गेंद टप्पा पड़ने के बाद कांटा बदलती है, वहां रोहित शर्मा के लिए परेशानी पैदा हो जाती है। लगातार अगर रोहित शर्मा को ऐसी गेंद फेंकी जाए तो वो अपना विकेट गंवा बैठते हैं।

कमजोरियां सुधारने के बाद विराट से भी बेहतर रोहित

अगर रोहित शर्मा अपनी इन कुछ कमजोरियों को सुधार लें तो फिर वो दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाज बन जाएंगे। कई लोगों का मानना है कि कई मामलों में रोहित शर्मा विराट कोहली से भी बेहतर हैं।

खुद सचिन भी इस बात को कह चुके हैं। रोहित शर्मा अगर अपनी कमजोरियों को सुधार लें तो निश्चित तौर पर दुनिया के मौजूदा सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज विराट कोहली से भी बेहतर हो सकते हैं।

Related posts

Leave a Reply