सचिन, गांगुली, हरभजन, लक्ष्मण कमेंट्री से हो सकते हैं बैन, ये हैं वजह

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सचिन, गांगुली, हरभजन, लक्ष्मण कमेंट्री से हो सकते हैं बैन, ये हैं वजह 

सचिन, गांगुली, हरभजन, लक्ष्मण कमेंट्री से हो सकते हैं बैन, ये हैं वजह

भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण विश्व कप के दौरान कमेंट्री कर रहे हैं। सचिन और लक्ष्मण स्टार स्पोर्ट्स के लिए कमेंट्री कर रहे हैं और सौरव गांगुली आईसीसी की कमेंट्री पैनल का हिस्सा हैं। इसके अलावा टीम से बाहर चल रहे ऑफ स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह भो कमेंट्री करते नजर आते हैं।

सचिन, गांगुली, हरभजन, लक्ष्मण कमेंट्री से हो सकते हैं बैन, ये हैं वजह 1

आईपीएल का भी हिस्सा

सचिन, गांगुली, हरभजन, लक्ष्मण कमेंट्री से हो सकते हैं बैन, ये हैं वजह 2

विश्व कप में कमेंट्री कर रहे ये सभी खिलाड़ी आईपीएल के भी हिस्सा हैं। सचिन तेंदुलकर मुंबई इंडियंस की टीम के साथ साथ जुड़े हैं। वहीं सौरव गांगुली दिल्ली कैपिटल्स और वीवीएस लक्ष्मण सनराइजर्स हैदराबाद के साथ जुड़े हुए हैं।

हरभजन सिंह चेन्नई सुपर सिंह के लिए खेलते नजर आते हैं। इन सभी खिलाड़ियों के हितों के टकराव का मामला एक बार फिर सामने आ गया है। सौरव गांगुली क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ़ बंगाल के प्रेसिडेंट भी हैं।

बीसीसीआई की नियम के खिलाफ

सचिन, गांगुली, हरभजन, लक्ष्मण कमेंट्री से हो सकते हैं बैन, ये हैं वजह 3

बीसीसीआई की नियम के मुताबिक बोर्ड के साथ जुड़ा हुआ कोई व्यक्ति एक ही पद पर रह सकता है। इंडियन एक्सप्रेस की नियम के मुताबिक लोकपाल डीके जैन ने आंतरिक हितों के टकराव मामले में शिकायत की थी।

अब उन्‍होंने एक बार फिर पूर्व क्रिकेटरों की दोहरी भूमिका पर सवाल खड़े किए हैं। जैन ने कहा कि ये क्रिकेटर्स लोढा पैनल की सिफारिशों को नहीं मान रहे हैं। इससे पहले आईपीएल के दौरान भी इनपर सवाल खड़े हुए थे।

कोई एक चुनने को कहा गया

सचिन, गांगुली, हरभजन, लक्ष्मण कमेंट्री से हो सकते हैं बैन, ये हैं वजह 4

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने इन दिग्गजों से कहा है कि वह आईपीएल या कमेंट्री में से किसी एक चीज चुने। अभी तक इस मामले पर इन सभी में किसी की तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

सचिन, गांगुली और लक्ष्मण बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) का भी हिस्सा था। आईपीएल 2019 के समय विवाद उठने पर सचिन ने सीएसी के सदस्य होने से इंकार कर दिया था। उन्होंने ‘संदर्भ की शर्तें’ उपलब्ध करवाने की मांग की थी।

Related posts