सचिन तेंदुलकर और उनके बेट को टीम में चुनना संयोग: चयनकर्ता

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अर्जुन की तेज गेंदबाजी ने किया आकर्षित, सचिन और उनके बेट को टीम में चुनना संयोग: मिलिंद रेगे 

अर्जुन की तेज गेंदबाजी ने किया आकर्षित, सचिन और उनके बेट को टीम में चुनना संयोग: मिलिंद रेगे

क्रिकेट की दुनिया में रोज नए रिकॉर्ड्स बनते हैं तो वहीं कुछ टूटते भी रहते हैं। लेकिन मैदान के बाहर भी कुछ ऐसे रिकॉर्ड्स बनते हैं जो वाकई खुद में ही बेहद खास होते हैं। ऐसा ही एक रिकॉर्ड भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और उनके बेटे अर्जुन तेंदुलकर से जुड़ा है। मगर यह इन दोनों के नाम नहीं बल्कि मुंबई क्रिकेट संघ के मुख्य चयनकर्ता मिलिंद रेगे हैं। जिन्होंने इस अदभुत रिकॉर्ड पर अपना नाम लिखा है।

मिलिंद रेगे ने ही दिया था सचिन को मौका

अर्जुन की तेज गेंदबाजी ने किया आकर्षित, सचिन और उनके बेट को टीम में चुनना संयोग: मिलिंद रेगे 1

अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा कौन सा रिकॉर्ड है जो सचिन-अर्जुन से जुड़ा है और बनाया किसी तीसरे ने है। असल में मिलिंद रेगे ने विज्जी ट्रॉफी के लिए सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन को मुंबई की टीम में शामिल किया है। शायद ही आपको पता हो कि जब सचिन तेंदुलकर अपने करियर की शुरुआत ही कर रहे थे तब उन्हें मुंबई की रणजी टीम में चुनने वाली चयन समिति के सदस्य मिलिंद रेगे भी रहे थे।

सचिन तेंदुलकर ने मौके का किया था भरपूर इस्तेमाल

सचिन

क्रिकेट की शुरूआत गली-मोहल्ले से होती है और जो इस दिशा में अपना करियर बनाना चाहता है उसका पहला मुकाम रणजी टीम में शामिल होना होता है। इसी तरह तेंदुलकर को भी दिसंबर 1988 में गुजरात के खिलाफ रणजी ट्रॉफी में डेब्यू करने का मौका मिला था।

सचिन ने मौके को सही से इस्तेमाल करना बखूबी आता था उन्होंने मुंबई की रणजी टीम से खेलते हुए शानदार शतकीय पारी खेली। और एक साल के भीतर भारतीय टीम में भी जगह बना ली।

अगर सचिन को सही समय पर सही मौका नहीं मिलता तो शायद हम मास्टर-ब्लास्टर तेंदुलकर के रिकॉर्ड्स की कहानियां न पढ़ रहे होते। इसलिए उनकी सक्सेस का कुछ श्रेय रेगे को भी जाता है।

जिस वक्त सचिन को मुंबई की रणजी टीम में शामिल किया गया था तब मुंबई चयन समिति के अध्यक्ष नरेन तम्हाने ‌थे और समिति में मिलिंद रेगे भी शामिल थे। रेगे मुंबई के रणजी कप्तान भी रह चुके हैं।

सचिन को चुनने के 30 साल बाद अब रेगे ने उनके बेटे अर्जुन तेंदुलकर को विज्जी ट्रॉफी के लिए मुंबई की टीम में शामिल किया है। इस अंडर-23 टूर्नामेंट का आयोजन बीसीसीआई की ओर से कराया जाता है।

रेगे ने बताया अर्जुन को टीम में शामिल करने का कारण

सचिन

रेगे ने साथ ही बताया कि मुझे अर्जुन की तेज गेंदबाजी क्षमता ने काफी प्रभावित किया और यही वजह है कि उन्हें टीम में शामिल किया गया है। हमें अच्छी गेंदबाजी करने वाले गेंदबाज की तलाश थी।

मैंने उन्हें हाल ही में इंग्लैंड में खेलते देखा, जहां उन्होंने 23 विकेट लिए। वह अलग-अलग एज ग्रुप में भारत के लिए खेल चुके हैं. लेकिन मैं आपको बताना चाहता हूं कि जब तक मैं इंचार्ज हूं, किसी भी खिलाड़ी विशेष तरजीह नहीं दी जाएगी।

Related posts