विश्वकप 2007 के पहले दौर में ही बाहर हो जाने पर 10 साल बाद अब सचिन तेंदुलकर ने किया ये चौकाने वाला खुलासा | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विश्वकप 2007 के पहले दौर में ही बाहर हो जाने पर 10 साल बाद अब सचिन तेंदुलकर ने किया ये चौकाने वाला खुलासा 

विश्वकप 2007 के पहले दौर में ही बाहर हो जाने पर 10 साल बाद अब सचिन तेंदुलकर ने किया ये चौकाने वाला खुलासा

अगर भारतीय क्रिकेट के 85 साल के इतिहास में कोई सबसे बुरा दौर रहा है, तो वह भारत का विश्वकप 2007 के दौरान का ही दौर होगा. सचिन, सहवाग, गांगुली, युवराज, धौनी, द्रविड़ और हरभजन जैसे खिलाड़ियों से सजी भारतीय टीम उस विश्वकप 2007 में पहले दौर में ही बाहर हो गई थी.

सचिन ने भी माना सबसे बुरा दौर 

विश्वकप 2007 के पहले दौर में ही बाहर हो जाने पर 10 साल बाद अब सचिन तेंदुलकर ने किया ये चौकाने वाला खुलासा 1

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने भी मंगलवार को एक कार्यक्रम में एक इंटरव्यू के दौरान माना की अगर भारतीय क्रिकेट के इतिहास में भारतीय टीम का कोई सबसे खराब प्रदर्शन व सबसे था, तो वह 2007 के विश्वकप का ही था.

सुपर 8 में पहुँचने लायक थी टीम 

विश्वकप 2007 के पहले दौर में ही बाहर हो जाने पर 10 साल बाद अब सचिन तेंदुलकर ने किया ये चौकाने वाला खुलासा 2

सचिन तेंदुलकर ने मंगलवार को एक कार्यक्रम में एक इंटरव्यू के दौरान कहा, “2007 के विश्वकप का दौर व उसमे किया गया प्रदर्शन हमारी टीम का सबसे खराब दौर था. हमारी टीम उस विश्वकप में सुपर 8 में पहुँचने लायक थी, मगर दुर्भाग्यवश हम पहले दौर से ही बाहर हो गये थे.”

सचिन तेंदुलकर ने आगे अपने इंटरव्यू में कहा, “हमने 2007 विश्वकप के बाद तरोताजा होकर सोचा और भारतीय क्रिकेट को फिर से नई दिशा में ले जाने का प्लान बनाया. हमने उस विश्वकप के बाद अपने खेलने के नजरिये व टीम में कुछ बदलाव किये, जिसके बाद हमें अच्छे नतीजे मिलने लगे.”

हार के बाद एक रात में बदल गया सबकुछ 

विश्वकप 2007 के पहले दौर में ही बाहर हो जाने पर 10 साल बाद अब सचिन तेंदुलकर ने किया ये चौकाने वाला खुलासा 3

सचिन तेंदुलकर ने आगे अपने इंटरव्यू में कहा, “हमारी 2007 विश्वकप हार के बाद एक रात में सबकुछ बदल गया था. हमें समझ नहीं आ रहा था, कि क्या सही हो रहा है और क्या गलत, लेकिन मैं इस बात से काफी खुश हूं कि उसके कुछ साल बाद 2011 में मैंने विश्वकप की ट्रॉफी अपने हाथ में पकड़ी.”

बांग्लादेश से करना पड़ा था हार का सामना 

विश्वकप 2007 के पहले दौर में ही बाहर हो जाने पर 10 साल बाद अब सचिन तेंदुलकर ने किया ये चौकाने वाला खुलासा 4

भारतीय टीम को 2007 विश्वकप में बांग्लादेश जैसी कमजोर टीम से हार का सामना करना पड़ा था. भारतीय टीम ने उस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 49.3 ओवर में 191 रन पर ही सिमट गई थी, जवाब में बांग्लादेश ने 48.3 ओवर में कुल 5 विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया था. ये भारतीय क्रिकेट इतिहास का बेहद शर्मनाक पल था.

Related posts