जब सचिन की डांट से बचने के लिए वीरू छिप गए थे अंपायरों के कमरे में 1

यहाँ देखे विडियो-

क्रिकेट के महानतम बल्लेबाजों में शुमार सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग की प्रसिद्ध जोड़ी को कौन नहीं जानता. वनडे क्रिकेट में इन दोनों की जोड़ी की मिसाल आज भी दी जाती हैं.

सचिन और सहवाग दोनों ने साथ में बल्लेबाज़ी करते हुए अनेकों रिकार्ड्स बनाये. यही नहीं इन दोनों की जोड़ी के कई किस्से क्रिकेट की गलियों में बेहद पसंद भी किये जाते हैं.

यह भी पढ़े : विडियो: जब सहवाग ने अख्तर से कहा बाप-बाप होता है और बेटा बेटा

अभी हालही में एक इवेंट में भाग लेने पहुंचे पूर्व सलामी बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग ने क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के साथ अपने एक यादगार किस्से को याद करते हुए बताई एक ऐसी बात जिसे सुनकर कोई भी अपनी हंसी को रोक नहीं पाया.

एक घटना का जिक्र करते हुए पूर्व आक्रामक बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग ने बताया, कि-

जब सचिन की डांट से बचने के लिए वीरू छिप गए थे अंपायरों के कमरे में 2

”यह वाक्या साल 2001 का हैं. जब भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला बेंगलुरु के मैदान पर खेला जा रह था. तभी भारत की पहली पारी के दौरान सचिन तेंदुलकर इंग्लैंड के स्पिनर एश्ले जाइल्स की एक गेंद पर स्टंप आउट हो गये थे.”

सहवाग के अनुसार-

”सचिन पाजी को क्रीज से बाहर निकलकर शॉट खेलने की सलाह मैंने ही दी थी. तब सचिन तेंदुलकर 90 के स्कोर पर खेल रहे थे और अपने शतक से मात्र दस रन ही दूर थे. सचिन ने आगे बढ़कर शॉट खेलना चाहा, लेकिन स्टंप आउट हो गये. जब चाय काल हुआ तो मैं ड्रेसिंग रूम में जाने की बजाये अंपायरों के कमरे ही रुक गया. जब सचिन को यह बात पता चली तो, उन्होंने मुझे बुलाया और कहा कि मैं अपने करियर में आज पहली बार स्टंप हुआ और वो भी तुम्हारी वजह से.”

तब सचिन तेंदुलकर को इंग्लैंड के विकेटकीपर जेम्स फोस्टर ने एश्ले जाइल्स की एक स्पिन गेंद पर स्टंप आउट किया था.

यह भी पढ़े : सचिन को क्रॉसवर्ड पुरस्कार, प्रशंसकों को दिया धन्यवाद

आपको बता दे, कि भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया यह टेस्ट मुकाबला ड्रा रहा था. वीरेंद्र सहवाग ने इस मैच में नंबर 7 पर बल्लेबाज़ी करते हुए बढ़िया 66 रन बनाये थे.

Akhil Gupta

Content Manager & Senior Writer at #Sportzwiki, An ardent cricket lover, Cricket Statistician.