महज 16 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर ने बनाया था अद्भुत विश्व रिकार्ड, आज तक कोई नहीं तोड़ सका 1

Test Cricket Records: किसने सोचा था कि 22 गज की पट्टी पर बल्लेबाजी कर रहा 16 साल का नौजवान एक दिन क्रिकेट जगत (World Cricket) का सबसे बड़ा सितारा बनेगा. करियर की पहली टेस्ट पारी के बाद क्रिकेट छोड़ने का मन बना चुके इस खिलाड़ी ने महज 16 साल की कम उम्र में ही कुछ ऐसा कमाल कर दिखाया, जिसने टॉनिक की तरह काम करते हुए करियर को बुलंदियों तक पहुंचाया. जी, हां ये खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) हैं.

पहले मैच के बाद क्रिकेट छोड़ना चाहते थे सचिन

महज 16 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर ने बनाया था अद्भुत विश्व रिकार्ड, आज तक कोई नहीं तोड़ सका 2

करांची में महज 16 साल की उम्र में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले सचिन तेंदुलकर अपनी पहले टेस्ट में सिर्फ 15 ही रन बना सके थे. इस मैच में एक तरफ से वकार यूनिस (Waqar Younis) बॉलिंग कर रहे थे तो दूसरी तरफ वसीम अकरम (Wasim Akram). दोनों बॉलरों के अटैक से सचिन खासे परेशान थे. सचिन को समझ में नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है. डबल पेस अटैक के खिलाफ कोई प्लान नहीं था. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने एक इंटरव्यू में कहा था,

‘उस वक्त मैंने सोचा कि कराची (Karachi) मेरी जिंदगी की पहली और शायद आखिरी टेस्ट पारी होगी.’

हालांकि, अगले ही मैच में उनकी किस्मत चमक गई.

सीनियर्स ने दी थी खास सलाह

sachin tendulkar

करांची टेस्ट के दौरान मैदान से पवेलियन लौटने पर सचिन ने गौरव कपूर (Gaurav Kapur) को दिए इंटरव्यू में कहा था,

‘जब मैं ड्रेसिंग रूम पहुंचा तो मेरे जेहन में यही चल रहा था कि ये मेरे लेवल की बात नहीं. मैंने ड्रेसिंग रूम में अपने साथी क्रिकेटर्स को ये बात बताई. साथी खिलाड़ियों नें मुझसे कहा कि ये मत सोचो कि मुझे पहली ही बॉल से शॉट मारना शुरू करना है. आपको विरोधी टीम के बॉलर्स को सम्मान देना होगा.’

सबसे कम उम्र में जड़ा था हाफ सेंचुरी

महज 16 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर ने बनाया था अद्भुत विश्व रिकार्ड, आज तक कोई नहीं तोड़ सका 3

सीनियर खिलाड़ियों की नसीहत के बाद जब सचिन तेंदुलकर फैसलाबाद टेस्ट (Faisalabad Test) में खेलने उतरे जबरदस्त वापसी की. कराची के बाद फैसलाबाद टेस्ट की पहली पारी में ही सचिन ने 59 रन बनाए थे. सचिन तेंदुलकर ने 16 साल और 214 दिन की उम्र में पहला अर्धशतक जड़ा था. सचिन तेंदुलकर का ये रिकार्ड आज भी कायम है और आगे भी रहने वाला है, क्योंकि आइसीसी ने डेब्यू की सीमा निर्धारित की है. सचिन क्रीच पर उस समय उतरे थे जब टीम के 4 विकेट 101 रन पर गिर गए थे. सचिन तेंदुलकर (59 रन) और संजय मांजरेकर (76 रन) के बीच पांचवें विकेट के लिए 143 रन की साझेदारी की. इस पारी के बारे में सचिन ने जिक्र करते हुए कहा था,

‘जब मैं ड्रेसिंग रूम में लौटा तो मैं खुद से कहा, तूने ये कर दिखाया, तू ये कर सकता है.’

इस पारी के बाद सचिन तेंदुलकर की बल्लेबाजी में लगातार निखार आया और वो आगे चलकर क्रिकेट के महान क्रिकेटर बने. उन्हें फैंस ने क्रिकेट का भगवान के नाम के उपाधि से नवाजा.

सर्वाधिक रन और शतक का रिकार्ड

महज 16 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर ने बनाया था अद्भुत विश्व रिकार्ड, आज तक कोई नहीं तोड़ सका 4

बता दें कि 2013 में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था. सचिन तेंदुलकर इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा सेंचुरी लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज हैं. तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर में 100 इंटरनेशनल शतक जड़े हैं जिसके आस-पास भी कोई खिलाड़ी नहीं है. सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट में सर्वाधिक 34,357 रन करियर में बनाए हैं जिसके बाद दूसरे नंबर पर श्रीलंका के दिग्गज बल्लेबाज कुमार संगकारा हैं जो सचिन से 6 हजार रनों से पीछे हैं. सचिन को साल 2019 में आईसीसी हाल आफ फेम से नवाजा जा चुका है. इस अवार्ड को पाने वाले सचिन छठे भारतीय बने थे.

One reply on “महज 16 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर ने बनाया था अद्भुत विश्व रिकार्ड, आज तक कोई नहीं तोड़ सका”

Comments are closed.