इस पाकिस्तानी गेंदबाज ने उठाया सचिन की ईमानदारी पर सवाल , 2011 विश्वकप में हुई थी ये घटना 1

हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुके पाकिस्तान के दिग्गज स्पिनर सईद अजमल ने एक ऐसा बयान दे डाला है. जिसे उन्होंने एक बार फिर सुर्खिया बटोर ली है.

दरअसल, पाकिस्तान टीम के पूर्व दिग्गज स्पिनर सईद अजमल ने विश्वकप 2011 के सेमीफाइनल को लेकर बयान दिया है.

सचिन को आउट क्यों नहीं दिया गया आज तक नहीं समझ पाया 

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज स्पिनर सईद अजमल ने अपने एक बयान में कहा है, कि वह आज तक नहीं समझ पाये है कि अंपायरों ने सचिन को उनकी गेंद पर एलपीडब्लू आउट क्यों नहीं दिया. गौरतलब है, कि 2011 का सेमीफाइनल मैच मोहाली में भारत और पाकिस्तान की टीमों के बीच खेला गया था.

मोहाली में हुए इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने 85 रन की शानदार पारी खेली थी, हालाँकि इस दौरान वह काफी भाग्यशाली भी रहे थे, क्योंकि इस पारी के दौरान उनके काफी कैच छुटे थे और कई जीवनदान मिले थे.

इस पाकिस्तानी गेंदबाज ने उठाया सचिन की ईमानदारी पर सवाल , 2011 विश्वकप में हुई थी ये घटना 2

संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के चलते आईसीसी ने किया था बैन 

इस पाकिस्तानी गेंदबाज ने उठाया सचिन की ईमानदारी पर सवाल , 2011 विश्वकप में हुई थी ये घटना 3

इसी मैच में सईद अजमल को लगता है, कि उन्होंने सचिन को एलपीडब्लू आउट कर दिया था, लेकिन अंपायर ने सचिन को आउट नहीं दिया.

हालाँकि इस मैच में अजमल ने ही सचिन को बाद में आउट कर दिया था. भारतीय टीम ने पाकिस्तान को इस सेमीफाइनल मैच में हराने के बाद मुंबई में हुए फाइनल मैच में हराया था और वनडे क्रिकेट इतिहास का अपना दूसरा विश्वकप खिताब जीता था.

अपने संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के चलते सईद अजमल को आईसीसी ने बैन किया हुआ था. जिसके बाद उन्होंने हाल में अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर को अलविदा कह दिया.

ये शब्द कहे अजमल ने 

इस पाकिस्तानी गेंदबाज ने उठाया सचिन की ईमानदारी पर सवाल , 2011 विश्वकप में हुई थी ये घटना 4

अजमल ने 2011 विश्वकप के सेमीफाइनल को याद करते हुए कहा, “मैं आश्वस्त था, कि सचिन एलबीडब्लू आउट थे, लेकिन आज तक मुझे समझ नहीं आया, कि अंपायरों ने उन्हें आउट क्यों नहीं दिया.”

अपने बयान में आगे अजमल ने भारतीय बल्लेबाजों की तारीफ करते हुए कहा, “भारतीय बल्लेबाजों को गेंदबाजी करना कभी भी आसान नहीं होता था. तेंदुलकर एंड कंपनी को गेंदबाजी करना हमेशा कौशल और क्षमता का परिक्षण होता था.” 

अपने सफल करियर के बावजूद अजमल ने कहा, “पिछले दो साल मेरे लिए निराशाजनक रहे मैं अपने गेंदबाजी एक्शन पर प्रतिबंध को लेकर काफी निराश और आहत था.”

ऐसा रहा अजमल का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर 

इस पाकिस्तानी गेंदबाज ने उठाया सचिन की ईमानदारी पर सवाल , 2011 विश्वकप में हुई थी ये घटना 5

अजमल ने पाकिस्तान टीम के लिए जहां 35 टेस्ट मैच में 178 विकेट लिए है. वही 113 वनडे मैचों में 184 विकेट व 64 टी20 मैचों में 85 विकेट लिए हुए है.

वीडियो ऑफ़ द डे

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul

Leave a comment