आईपीएल 2020- चेन्नई सुपर किंग्स के प्लेऑफ की रेस से बाहर होने पर साक्षी धोनी का छल्का दर्द 1

क्रिकेट के इतिहास में रविवार को वो हुआ जो आज तक नहीं हो सका, क्रिकेट फैंस ने उस पल का सामना किया जिसका उन्होंने इससे पहले कभी अहसास तक नहीं किया, इस पल ने करोड़ो क्रिकेट प्रशंसकों को स्तब्ध कर दिया, क्योंकि इससे पहले कभी उन्होंने इस अनहोनी के होने की उम्मीद तक नहीं की थी।

सीएसके आईपीएल के इतिहास में पहली बार नहीं प्लेऑफ से बाहर

जी हां… ये अनहोनी हुई है चेन्नई सुपर किंग्स के आईपीएल के इतिहास में पहली बार प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने की। आईपीएल के अब तक के इतिहास में चेन्नई सुपर किंग्स पहली बार प्लेऑफ की रेस से बाहर हुई है जो हर किसी के लिए हैरान करने वाली बात है।

चेन्नई सुपर किंग्स

आईपीएल का जब से आगाज हुआ है, महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में इस टीम ने कमाल की निरंतरता दिखायी है। सीएसके ने हर सीजन में अपने आपको फेवरेट के रूप में साबित किया है और लगातार प्लेऑफ में कायम किया।

सीएसके के प्लेऑफ में जगह नहीं बनाने पर छलका साक्षी का दर्द

चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल के इतिहास में इस सीजन से पहले खेले 10 सीजन में हर बार प्लेऑफ में जगह बनायी है। वो ऐसा करने वाली इकलौती टीम रही। लेकिन उनका ये सुनहरा रिकॉर्ड आईपीएल के 13वें सीजन में टूट गया।

आईपीएल 2020- चेन्नई सुपर किंग्स के प्लेऑफ की रेस से बाहर होने पर साक्षी धोनी का छल्का दर्द 2

सीएसके ने रविवार को आरसीबी को आसानी से मात तो दी, लेकिन उनकी उम्मीदें प्लेऑफ से खत्म हो गई। इस टीम ने, इस टीम के फैंस ने ऐसी स्थिति का सामना पहली बार किया है जब अंतिम चार की होड़ होगी तो ये टीम नजर नहीं आएगी। प्लेऑफ से बाहर होने के बाद महेन्द्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी धोनी ने बहुत ही इमोशनल पोस्ट डाली है, जिसे पढ़कर हर कोई भावुक हो सकता है।

साक्षी धोनी ने सीएसके के बाहर होने पर लिखा इमोशनल पोस्ट

साक्षी धोनी ने मैच में हारने के बाद और सीएसके का रास्ता पूरी तरह से बंद होने के बाद अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर बहुत ही भावुक पोस्ट लिखा। साक्षी धोनी ने इसमें लिखा कि

आईपीएल 2020- चेन्नई सुपर किंग्स के प्लेऑफ की रेस से बाहर होने पर साक्षी धोनी का छल्का दर्द 3

ये केवल एक खेल है। तुम कुछ जीतो, तुम कुछ हार जाते हो। कई साल हमारी दिलचस्प जीत के गवाह बने हैं और कुछ साल दर्द  देने वाली हार के। एक जश्न मना रहे हैं और दूसरे का दिल टूट रहा है। कुछ  के उचित कारण थे तो कुछ के नहीं। कुछ जीत, कुछ हार और दूसरों को याद आती है। यह केवल एक खेल है। कई  प्रचारक और कई मिले-जुले रिएक्शन।  इमोशन से स्पोर्ट्समैनशिप को हराने मत दो! ये सिर्फ एक खेल है! कोई हारना नहीं चाहता है, लेकिन सभी विजेता नहीं हो सकते! “जब नीचे मारा, स्तब्ध, मैदान से वापस चलना लंबा लग रहा है। जुबली की आवाज और आहें दर्द में जोड़ देती हैं। आंतरिक शक्ति नियंत्रण में ले जाती है ये सब सिर्फ एक खेल है !! आप विजेता थे, तो आप अब विजेता हैं! सच्चे विनर्स का जन्म  इसलिए होता है!’ लड़ने के लिए के रूप में वे हमेशा हमारे दिल में और हमारे मन में सुपर किंग्स होंगे।

 

View this post on Instagram

 

💛

A post shared by Sakshi Singh Dhoni (@sakshisingh_r) on