यो-यो टेस्ट प्रक्रिया पर पूर्व चयनकर्ता संदीप पाटिल ने उठाए सवाल

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

यो-यो टेस्ट में फेल रायडू और संजू सैमसन को फिर मिल सकता है भारतीय टीम में मौका, संदीप पाटिल ने कही ये बात 

यो-यो टेस्ट में फेल रायडू और संजू सैमसन को फिर मिल सकता है भारतीय टीम में मौका, संदीप पाटिल ने कही ये बात

भारतीय क्रिकेट में अब जगह बनाना आसान नहीं रहा है। भारतीय खिलाड़ियों को अब क्रिकेट टीम में जगह बनाने के लिए प्रदर्शन के साथ ही फिट रहना बहुत जरूरी है। अब ऐसी स्थिति हो चली है कि जो खिलाड़ी चाहे प्रदर्शन किसी भी तरह के कर ले फिटनेस की बाधा पार करके ही वो टीम में अपनी जगह सुनिश्चित कर सकता है। फिटनेस के लिए बीसीसीआई ने यो-यो टेस्ट नाम की एक मुश्किल प्रक्रिया का इजाद किया है।

यो-यो टेस्ट में फेल रायडू और संजू सैमसन को फिर मिल सकता है भारतीय टीम में मौका, संदीप पाटिल ने कही ये बात 1

यो-यो टेस्ट बना खिलाड़ियों के लिए खतरा

भारतीय टीम में अब जगह बनाने के लिए किसी भी तरह से यो-यो टेस्ट पास करना होता है। हाल के दिनों में कई खिलाड़ियों को यो-यो टेस्ट की बाधा पार नहीं करने के कारण से बाहर होना पड़ा है। इसमें प्रमुख खिलाड़ी मोहम्मद शमी, संजू सैमसन और अंबाती रायडू जैसे खिलाड़ी रहे हैं जो टीम में स्थान बनाने के बाद यो-यो टेस्ट पास नहीं कर सके और बाहर का रास्ता देखना पड़ा।

यो-यो टेस्ट में फेल रायडू और संजू सैमसन को फिर मिल सकता है भारतीय टीम में मौका, संदीप पाटिल ने कही ये बात 2

यो-यो टेस्ट प्रणाली पर संदीप पाटिल ने उठाए सवाल

बीसीसीआई ने जब से यो-यो टेस्ट को अनिवार्य किया है तब शुरूआत में ही युवराज सिंह और सुरेश रैना जैसे दो बड़े खिलाड़ी इस मुश्किल बाधा को पार नहीं कर सके और उनके नाम के बारे में आगे विचार नहीं किया गया।  बीसीसीआई नई फिटनेस प्रणाली यो-यो टेस्ट के तरह जो भी खिलाड़ी असफल होता जा रहा है उसे बाहर का रास्ता दिखा रहे हैं, लेकिन पूर्व भारतीय क्रिकेट टीम के चयनकर्ता संदीप पाटिल ने बीसीसीआई की इस प्रणाली पर सवाल उठा दिए हैं।

यो-यो टेस्ट में फेल रायडू और संजू सैमसन को फिर मिल सकता है भारतीय टीम में मौका, संदीप पाटिल ने कही ये बात 3

यो-यो टेस्ट के लिए खिलाड़ियों को देने चाहिए दो मौके

संदीप पाटिल ने यो-यो टेस्ट के लेकर बीसीसीआई के रवैये के बारे में कहा कि

जिस तरह से टेस्ट क्रिकेट में एक खिलाड़ी को अपने आपको साबित करने के लिए दो मौके दिए जाते हैं, उसी तरह से यो-यो टेस्ट के मामले में भी यहीं होना चाहिए। उन्हें दो मौके दिए जाने चाहिए।अगर कोई खिलाड़ी यो-यो टेस्ट को क्लीयर करने मे सफल नहीं रहता है तो कुछ घंटे बाद या अगले दिन उसे एक और मौका दिया जाना चाहिए।

“वहां पर कई कारण हो सकते हैं कि अंबाती रायडू उस दिन यो-यो टेस्ट में विफल क्यों रहे। एक खिलाड़ी मानसिक रूप से हमेशा फिट नहीं हो सकता है। आप एक खिलाड़ी के करियर के बारे में बात कर रहे हैं। उन्होंने पूरे साल घरेलु सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया है, और आधे घंटे में आप ये नहीं तय कर सकते कि वो दौरे पर जाएंगे या नहीं। आप इस तरह से खिलाड़ियों को पीछे नहीं छोड़ सकते हैं।”

यो-यो टेस्ट में फेल रायडू और संजू सैमसन को फिर मिल सकता है भारतीय टीम में मौका, संदीप पाटिल ने कही ये बात 4

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आए तो प्लीज इसे लाइक और शेयर करें।

Related posts

Leave a Reply