संदीप पाटिल ने कहा मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष का चुनाव लड़ने के लिए नहीं हूँ मै योग्य 1

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज संदीप पाटिल मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। भारतीय क्रिकेट के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों ने गिने जाने वाले पाटिल का हितों का टकराव हो रहा है। वह इससे पहले भारतीय टीम के कोच और एमएसके प्रसाद से पहले मुख्य चयनकर्ता भी रह चुके हैं।

कमेंट्री करते हैं

संदीप पाटिल ने कहा मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष का चुनाव लड़ने के लिए नहीं हूँ मै योग्य 2

संदीप पाटिल स्टार स्पोर्ट्स के लिए मराठी भाषा में कमेंट्री करते हैं। एमसीए का चुनाव लड़ने के लिए उन्हें यह पद छोड़ना पड़ेगा। उन्होंने एमसीए का चुनाव न लड़कर कमेंट्री करते रहने का फैसला किया है।

उन्होंने अफसोस जताया कि वह शहर के क्रिकेट में मदद करने में सक्षम नहीं हैं। उन्होंने कहा

“मैं मुंबई क्रिकेट की मदद करना चाहता था। मैं नियमों का सम्मान करता हूं। मैं उन्हें भी स्वीकार करूंगा। यह दुर्भाग्य की बात है कि अगर कोई ऐसा नियम है तो कोई भी क्रिकेटर आगे नहीं आएगा।”

बीसीसीआई सीईओ से भी बात की

संदीप पाटिल ने कहा मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष का चुनाव लड़ने के लिए नहीं हूँ मै योग्य 3

संदीप पाटिल ने कहा मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष का चुनाव लड़ने के लिए नहीं हूँ मै योग्य 4

संदीप पाटिल ने इस मामले पर कई लोगों से सलाह ली। इसमें बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी भी शामिल हैं। सभी से बात करने के बाद नहीं चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया। मुंबई मिरर से बात करते हुए उन्होंने इसपर कहा

“यदि मैं एमसीए अध्यक्ष बन गया तो हितों का टकराव हो जायेगा। मैंने चुनाव अधिकारी डीएन चौधरी के साथ स्पष्ट किया। मैं, रवि सावंत और सीईओ सीएस नाइक अधिकारी से मिले। हमने बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी से भी बात की। अंत में यह निष्कर्ष निकाला गया कि मैं चुनाव लड़ने के योग्य नहीं हूँ।”

उपाध्यक्ष ले सकते हैं जगह

संदीप पाटिल ने कहा मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष का चुनाव लड़ने के लिए नहीं हूँ मै योग्य 5

संदीप पाटिल की जगह एसोसिएशन के पूर्व उपाध्यक्ष विजय पाटिल म्हाद्दलकर ग्रुप की तरफ से मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकते हैं। उनके अलावा मैनेजिंग कमिटी की तरफ से नील सावंत उम्मीदवार हो सकते हैं।

मुंबई क्रिकेट भारत के सबसे बड़ी घरेलू क्रिकेट टीम में से एक है। टीम रणजी ट्रॉफी इतिहास की सबसे सफल टीम है और भारत को सुनील गावस्कर, सचिन तेंदुलकर से लेकर रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे जैसे बड़े बल्लेबाजी दिए हैं।