संजय बांगर के किया खुलासा जिम्बाब्वे दौरे पर थी चयनकर्ताओ की करीबी नज़र | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

संजय बांगर के किया खुलासा जिम्बाब्वे दौरे पर थी चयनकर्ताओ की करीबी नज़र 

संजय बांगर के किया खुलासा जिम्बाब्वे दौरे पर थी चयनकर्ताओ की करीबी नज़र

एकदिवसीय सीरीज में शानदार प्रदर्शन के बाद, भारतीय टीम ने संघर्ष करके जिम्बाब्वे से टी-ट्वेंटी सीरीज जीती. परन्तु भारत के अंतरिम कोच संजय बांगर ने भारत की अनुभवहीन टीम की बेहद अधिक सराहना किया हैं.

फाइनल टी-ट्वेंटी जीतने के बाद, रिपोर्टर से बात करते हुए संजय ने खुलासा किया कि चयनकर्ताओ की ज़िम्बाब्वे दौरे पर करीबी नज़र थी. कप्तान धोनी ने जिस तरह दवाब की स्तिथि में युवा खिलाड़ियों की मदद किया, उसकी भी संजय ने बेहद अधिक सराहा हैं.

बांगर ने कहा “इनमें से कुछ खिलाड़ी भारत ए टीम के साथ आस्ट्रेलिया जायेंगे और मुझे लगता है कि इस दौरान चयनकर्ता ने सभी खिलाड़ियों के प्रदर्शन को अच्छे से देखा है तथा उन्होंने जो देखा होगा, उससे खिलाड़ियों को भविष्य के लिये निश्चित रूप से निर्धारित भी कर लिया होगा”

आगे बांगर ने कहा “जिस भी खिलाड़ी को मौका मिला, उसने चयनकर्ता को प्रभावित किया, जो उन्होंने प्रभाव बनाया, मुझे लगता है यह अनुभव बेहद अधिक महत्व रखता हैं. जब आप तीन मैचों की सीरीज का पहला मैच हार जाते हो, तो दबाव बढ़ता है मुझे लगता है कि जिस तरह से हमने दूसरे मैच में वापसी और तीसरे में संयम बनाये रखा, वह बेहद शानदार था”.

पहले टी-ट्वेंटी के हार के कारण के बारे में बात करते हुए बांगर ने कहा “मुझे लगता है कि टी-ट्वेंटी एक इस तरह का फॉर्मेट है जहा तुम्हे कम समय में कई बड़े फैसले लेने होते हैं जिस से दवाब बनता हैं. कभी-कभी आपके द्वारा लिए गए फैसले गलत साबित होते है जिस से आपकी आलोचना होती हैं”.

43 वर्ष के बांगर ने यह भी खुलासा किया कि कप्तान धोनी के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने से युवा खिलाड़ियों को भी बहुत कुछ सिखने को मिला है. बांगर ने कहा “धोनी ने युवा खिलाड़ियों के साथ अपना अनुभव साझा करने कोशिश किया, और युवा खिलाड़ियों को दवाब की स्तिथि में संयम बनाये रखने की सलाह दी”.

संजय बांगर को जिम्बाब्वे दौरे के लिए भारतीय टीम का अस्थाई कोच बनाया गया था. विश्वकप 2015 के बाद भारतीय कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल समाप्त हुआ था जबसे भारतीय कोच का पद खाली थी.

23 जून को बीसीसीआई ने क्रिकेट सलाहकार समिति में शामिल सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण की सहायता से अनिल कुंबले को 1 वर्ष के कार्यकाल के लिए कोच नियुक्त किया हैं.

 


Related posts