पूर्व बीसीसीआई सचिव संजय जगदले ने इस खिलाड़ी को बताया नंबर-4 के लिए सही

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बीसीसीआई सचिव संजय जगदाले ने अजिंक्य रहाणे को बताया नंबर 4 का सबसे बेहतर विकल्प 

बीसीसीआई सचिव संजय जगदाले ने अजिंक्य रहाणे को बताया नंबर 4 का सबसे बेहतर विकल्प

भारतीय क्रिकेट टीम ने पिछले दो साल में क्रिकेट के हर फॉर्मेट में जबरदस्त प्रदर्शन किया है। इस दौरान खासकर वनडे फॉर्मेट में तो भारतीय टीम का प्रदर्शन बहुत ही शानदार रहा लेकिन इसके बाद भी विराट कोहली एंड कंपनी को एस समस्या का समाधान नहीं मिला वो है नंबर चार बल्लेबाजी क्रम….

नंबर चार का नहीं हो पा रहा है समाधान

नंबर चार की पोजिशन को लेकर भारतीय टीम की टेंशन आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में भी कामय रही और टीम को इस बल्लेबाजी क्रम से निराशा ही हाथ लगी।

बीसीसीआई सचिव संजय जगदाले ने अजिंक्य रहाणे को बताया नंबर 4 का सबसे बेहतर विकल्प 1

नंबर 4 के बल्लेबाजी क्रम पर भारतीय क्रिकेट टीम ने एक दर्जन से ज्यादा खिलाड़ियों को अजमाया है। हर बार एक विश्वास के साथ बल्लेबाजों को मौका दिया लेकिन स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

पूर्व बीसीसीआई सचिव संजय जगदाले ने अजिंक्य रहाणे को बताया इस क्रम के लिए सही

विश्व कप से पहले माना जा रहा था कि इस नंबर पर अंबाती रायडू ने अपना दावा मजबूत कर दिया है लेकिन विश्व कप आते-आते अंबाती रायडू की टीम से ही छुट्टी कर दी और विजय शंकर को इस स्थान के लिए टीम में शामिल किया।

बीसीसीआई सचिव संजय जगदाले ने अजिंक्य रहाणे को बताया नंबर 4 का सबसे बेहतर विकल्प 2

आखिर ये नंबर चार की पहेली कुछ ऐसी उलझन बन चुकी है जिसको लेकर चयनकर्ताओं से लेकर टीम मैनेजमेंट तक हर कोई समझ नहीं पा रहा है। लेकिन वहीं बीसीसीआई के पूर्व सचिव संजय जगदाले ने इस क्रम को लेकर एक नाम सुझाया है।

अंजिक्य रहाणे होने चाहिए नंबर चार के बल्लेबाज

बीसीसीआई के पूर्व सचिव रहे संजय जगदाले ने नंबर चार की पहेली को सुलझाने के लिए अजिंक्य रहाणे का नाम लिया है और उनका मानना है कि रहाणे ही इस बल्लेबाजी क्रम का सोल्यूशन हो सकते हैं।

Next month join club club Hampshire to stay

जगदाले ने कहा कि

“मैं नंबर 4 पर अजिंक्य रहाणे को पसंद करना चाहूंगा। आपके पास ऐसे खिलाड़ी नहीं हो सकते जो 2003 से खेलने के बावजूद अपने स्थान को सुरक्षित नहीं रख सके। वे आपका भविष्य भी नहीं हैं। इंग्लैंड में रहाणे का पहला दौरा शानदार रहा था और वो उपमहाद्वीप के बाहर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।”

संजय जगदाले ने इसके आगे कहा कि

“तो क्या आप सुनिश्चित करने के लिए 50 ओवरों के खेल के दौरान किन्हीं परिस्थितियों में तंग होने के कारण रहाणे जैसा कोई व्यक्ति नहीं हो सकता है? नॉक आउट मैचों में अलग दबाव होता है। टूर्नामेंट के लिए रहाणे का नाम मिश्रण में था लेकिन वो कटौती नहीं कर सके।”

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे जल्दी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आप तक पहुंचा सके।

Related posts