"केएल राहुल भरोसे पर खड़े नहीं उतरे, विश्व कप 2023 को देखते हुए मयंक को मौका देने की जरूरत"

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

“केएल राहुल भरोसे पर खड़े नहीं उतरे, विश्व कप 2023 को देखते हुए मयंक को मौका देने की जरूरत” 

“केएल राहुल भरोसे पर खड़े नहीं उतरे, विश्व कप 2023 को देखते हुए मयंक को मौका देने की जरूरत”

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज केएल राहुल विश्व कप में रोहित शर्मा और विराट कोहली के बाद भारत के लिए सबसे ज्यादा रन बनाये हैं। वह 2014 के अंत से भारतीय टीम का हिस्सा हैं लेकिन अभी तक उनमें निरंतरता की कमी है। यही वजह है कि विश्व कप में अच्छे रन बनाने के बावजूद उनकी पारी का किसी मैच पर कोई असर नहीं दिखा।

फॉर्म नहीं रखते जारी

भारतीय टीम के पूर्व बल्ल्लेबाज और विश्व कप के दौरान कमेंट्री करने वाले संजय मांजरेकर के अनुसार केएल राहुल फॉर्म जारी नहीं रख पाते। राहुल एक बड़ी पारी खेलने के बाद लगातार कई पारियों में फ्लॉप होते हैं। क्रिकेट नेक्स्ट के अपने कॉलम में विश्व कप 2023 में भारत के प्लान पर राहुल की भूमिका पर मांजरेकर लिखते हैं

“मैं टॉप ऑर्डर में कुछ रन बनाने के बावजूद राहुल को नहीं रखूँगा। श्रीलंका के खिलाफ शतक बनाने के बाद सेमीफाइनल में ऐसे आउट हुए जैसे फॉर्म में नहीं हो। रोहित- कोहली के आउट होने के बाद उनके पास मौका था कि जो सालों से टीम ने उन पर भरोसा जताया था, उसकी भरपाई करें। पिछले साल इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में शतक बनाने के बाद विंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज में लगातार जूझते दिखे वहीं डेब्यू कर रहे पृथ्वी शॉ उनसे बल्लेबाजी में काफी आगे दिखाई दे रहे थे। राहुल सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2017 घरेलू टेस्ट सीरीज में निरंतर थे, लेकिन 6 अर्धशतक को एक बार भी शतक में तब्दील नहीं कर पाए।”

मयंक को मिले मौका

भारत के लिए मयंक अग्रवाल ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट डेब्यू किया। जिस गें3 पारियों में करीब 200 रन दबाजी के सामने केएल राहुल और मुरली विजय जैसे बल्लेबाज जूझ रहे थे, वहां मयंक ने 3 पारियों में करीब 200 रन बना दिए। उन्हें वनडे टीम में मौका देने पर संजय मांजरेकर ने लिखा

“मैं लॉन्ग टर्म और हाई रिटर्न की संभावनाओं के साथ नए शेयरों में निवेश शुरू करूंगा। मसलन मयंक अग्रवाल जैसे खिलाड़ी। ऑस्ट्रेलिया में लाल कूकाबूरा गेंद के खिलाफ ओपनिंग करते हुए अपने पहले दो टेस्ट में दो 70 का स्कोर हासिल किये हैं। इसके लिए खिलाड़ी में कुछ खास होना चाहिए। उन्हें भारत की एकदिवसीय टीम में होना चाहिए और आपको जो पहला मौका मिले, उसे सीधे प्लेइंग में डाल दें।”

Related posts