जेएनयू में हमले पर बोले संजय मांजरेकर असंभव है भारत की धर्म निरपेक्षता वाली सोच को मिटाना

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

JNU हमले के बाद हो रहे प्रदर्शन से सहमत हैं संजय मांजरेकर, कहा धर्म निपेक्षता कोई नहीं मिटा सकता 

JNU हमले के बाद हो रहे प्रदर्शन से सहमत हैं संजय मांजरेकर, कहा धर्म निपेक्षता कोई नहीं मिटा सकता

भारत के पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने विरोध कर रहे छात्रों को अपना समर्थन दिया है. दरअसल दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में रविवार रात हुई हिंसा के विरोध में देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन हो रहा है. मुंबई में भी जेएनयू हमले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुआ है. मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर काफी भारी संख्या में लोग जुटे. हालांकि यह प्रदर्शन तो जेएनयू हमले के खिलाफ हो रहा था, लेकिन इस दौरान एक लड़की ने फ्री कश्मीर लिखा पोस्टर भी दिखाया.

संजय मांजरेकर ने किया समर्थन

JNU हमले के बाद हो रहे प्रदर्शन से सहमत हैं संजय मांजरेकर, कहा धर्म निपेक्षता कोई नहीं मिटा सकता 1

दरअसल भारत के पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने विरोध कर रहे छात्रों को अपना समर्थन दिया है. इसमें ओलम्पिक पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त भी कूद पड़े. संजय मांजरेकर ने गेटवे ऑफ इंडिया पर हो रहे प्रदर्शन की फोटो ट्वीट करते हुए लिखा, शाबाश मुंबई.

संजय मांजरेकर एक ट्वीट और किया

‘भारतीयों ने बरसों से अपने नायकों को भरपूर प्यार दिया है और ऐसा करते वक्त धर्म कभी भी आधार नहीं रहा. इसलिए मुझे यकीन है कि भारत की धर्मनिरपेक्षता को हिला पाना असंभव है.’

योगेश्वर दत्त ने भी संजय मांजरेकर से पूछा था सवाल

वहीं योगेश्वर दत्‍त ने इसके जवाब में इसी प्रदर्शन की एक फोटो ट्वीट की जिसमें एक लड़की ‘फ्री कश्मीर’ का पोस्टर लेकर खड़ी है. इसे पोस्ट करते हुए योगेश्वर दत्त ने संजय मांजरेकर से सवाल किया है. ‘ये भी इसी मुंबई प्रदर्शन की सच्चाई है. संजय मांजरेकर ऐसे लोगों के बारे में क्या कहना है आपका ?’ यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही और कई लोग इसके खिलाफ बोल रहे हैं.

यहां पर हुआ था प्रदर्शन

रविवार आधी रात को दक्षिण मुम्बई के कोलाबा में गेटवे ऑफ इंडिया के सामने बड़ी संख्या में छात्रों और महिलाओं सहित बड़ी संख्या में लोग जमा हुए थे. बाद में अनुराग कश्यप, स्वरा भास्कर और विशाल ददलानी जैसी बॉलीवुड हस्तियां भी यहां पहुंची. गौरतलब है कि जेएनयू परिसर में रविवार रात लाठियों और लोहे की छड़ों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने परिसर में प्रवेश कर छात्रों और शिक्षकों पर हमला कर दिया था और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था.

Related posts