sanjay manjrekar- jadeja

मेलबर्न के दूसरे टेस्ट मैच में भारतीय टीम को शानदार जीत मिली है, और अजिंक्य रहाणे मैन ऑफ द मैच घोषित किए गए हैं. इसके लिए कप्तानी की जिम्मेदारी संभाल रहे अजिंक्य रहाणे को जॉनी मुलाग पदक से नवाजा गया है. लेकिन इस बीच एक बार फिर रवींद्र जडेजा के प्रदर्शन को लेकर संजय मंजरेकर अपने ट्वीट के चलते चर्चाओं में आ गए हैं.

संजय मांजरेकर ने किया जडेजा को लेकर किया ट्वीट

sanjaysanjay manjrekarmanjrekar

दरअसल बीट्स एंड पीस वाले बयान को लेकर संजय मांजरेकर सुर्खियों में हैं. भारतीय टीम की हुई शानदार जीत और रवींद्र जडेजा के प्रदर्शन को लेकर, महान राजगोपालन के तंज भरे सवाल का जवाब देते हुए ट्वीट में लिखा है कि,

“बिट्स एंड पीसेस का मतलब है नॉन स्पेशलिस्ट… ‘इंग्लिश चैलेंज्ड’ के लिए फिर से शब्द की व्याख्या. टेस्ट में मैनें हमेशा से ही जडेजा का सोपर्ट किया है. क्योंकि वह एक शानदार गेंदबाज हैं इसलिए विशेषज्ञ हैं. समझ गए महान राजगोपालन?”

दरअसल साल 2019 में हुए आईसीसी विश्व कप की बात है, जब संजय मांजरेकर ने रवींद्र जडेजा को वनडे का प्लेयर मानने से इनकार कर दिया था, और उन्हें बीट्स एंड पीसेस करार दिया था. इसके बाद संजय मांजरेकर और रवींद्र जडेजा के बीच सोशल मीडिया पर भी जुबानी जंग देखी गई.

हालांकि संजय मांजरेकर के एक बार फिर किये गए इस ट्वीट से पता चल रहा है कि वह टेस्ट क्रिकेट में, तो जडेजा को एक बहतर ऑलराउंडर समझते हैं, लेकिन वनडे. टी-20 में वह अब भी जडेजा के प्रदर्शन से प्रभावित नहीं है.

रवींद्र जडेजा ने मांजरेकर के बयान पर किया पलटवार

क्या अब भी रविन्द्र जडेजा को बेहतर वनडे और टी-20 ऑलराउंडर नहीं मानते संजय मांजरेकर? फिर किया विवादित ट्वीट 1

इसके बाद संजय माजरेकर के बयानों से आग बबूला हुए रवींद्र जडेजा ने भी उन्हें करारा जवाब देते हुए एक ट्वीट किया था. जिसके जरिए उन्होंने मांजरेकर को खिलाड़ियों का सम्मान करने की सलाह देते हुए लिखा था कि,

“मैंने आपसे कहीं ज्यादा मैच खेले हैं. यही नहीं अभी लगातार खेल रहा हूं. जिन्होंने कुछ हासिल कर लिया है उसका सम्मान करना सीखिए. मैंने आपके मुंह की बीमारी के बारे में काफी कुछ सुना है.”

2019 में जडेजा को मांजरेकर ने बताया था अस्थाई खिलाड़ी

sanjay manjrekar

दरअसल उस दौरान संजय मांजरेकर से एक सवाल करते हुए पूछा गया था कि, क्या चहल और कुलदीप के फ्लॉप प्रदर्शन के बाद टीम में रवींद्र जडेजा को लिया जाना चाहिए? इस पर जवाब देते हुए संजय मांजरेकर ने कह दिया था कि,

“मैं  बिट्स एंड पीसेस खिलाड़ियों का प्रशंसक नहीं हूं, इस समय रवींद्र जडेजा वनडे करियर में इसी स्थिति से जूझ रहे हैं. टेस्ट मैचों में वह अच्छे गेंदबाज हैं लेकिन वनडे में मैं उनकी जगह मैं किसी और को बल्लेबाज या गेंदबाज चुनूंगा.”

हालांकि इसके बाद भारत ने अंतिम मुकाबले में श्रीलंका के खिलाफ उन्हें टीम में शामिल किया था. जिसमें रवींद्र जडेजा के प्रदर्शन को देखते हुए संजय मांजरेकर ने अपने बयान में परिवर्त करते हुए उन्हें चालाक खिलाड़ी करार दिया था.