सरफराज अहमद को पाकिस्तान टीम से निकाले जाने के बाद पत्नी ने उठाया

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सरफराज अहमद को पाकिस्तान टीम से निकाले जाने के बाद पत्नी ने धोनी को लेकर कही ये बात 

सरफराज अहमद को पाकिस्तान टीम से निकाले जाने के बाद पत्नी ने धोनी को लेकर कही ये बात

पाकिस्तान क्रिकेट टीम पिछले काफी वक्त से निराशाजनक प्रदर्शन कर रही है। विश्व कप में बिना सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई किए टीम बाहर हो गई। इसके बाद श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज में जीत दर्ज करने के बाद टी 20 सीरीज में खेले गए 3 में से तीनों ही मैचों में शर्मनाक हार का सामना किया। इसके बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने सरफराज अहमद पर कठिन फैसला सुनाते हुए न केवल कप्तानी बल्कि सीमित ओवर टीम से भी ड्रॉप कर दिया।

सरफराज के ड्रॉप होने पर नहीं है दुख

सरफराज अहमद को पाकिस्तान टीम से निकाले जाने के बाद पत्नी ने धोनी को लेकर कही ये बात 1

पाकिस्तान क्रिकेट टीम को चैंपियंस ट्रॉफी जीताने वाले कप्तान सरफराज अहमद को कप्तानी के साथ-साथ टीम से भी हटा दिया गया। इसके बाद सरफराज अहमद की पत्नी सैयदा खुशबख्त ने सरफराज के ड्रॉप किए जाने पर कराची से टेलीफोन पर बात से बात करते हुए कहा, “नहीं, न तो मैं और न ही मेरे पति निराश हैं। यह पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का फैसला है और हमें इसका सम्मान करना होगा।”

धोनी ने अभी तक संन्यास लिया?

सरफराज अहमद को पाकिस्तान टीम से निकाले जाने के बाद पत्नी ने धोनी को लेकर कही ये बात 2

सरफराज अहमद को ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम में जगह मिलने की संभावना नहीं है। असल में पाकिस्तान को नवंबर और दिसंबर में तीन टी 20 आई और दो टेस्ट मैच की सीरीज खेलने के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना है। सरफराज के टीम से बाहर होने के बाद उनके संन्यास को लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया।

संन्यास के अटकलों को खारिज करते हुए सैयदा खुशबख्त ने कहा, “हम तीन दिन पहले से इनके टीम से कप्तानी से हटाए जाने की बात जानते थे। यह उनके लिए एंडिंग नहीं है। वह अब फ्री होकर खेल सकेंगे। उन्हें अब क्यों संन्यास लेना चाहिए? वह केवल 32 साल के हैं। धोनी कितने साल के हैं?

क्या उन्होंने अभी तक संन्यास का ऐलान किया? मेरे पति मजबूत वापसी करेंगे। वह एक फाइटर हैं और वापस आएंगे। मुझे लगता है कि सरफराज फरवरी तर दूसरे बेटे के पिता बन जाएंगे।

डीन जोन्स ने उठाया मिस्बाह के पदों पर सवाल

मिस्बाह

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर और टीवी कमेंटेटर डीन जोन्स का मानना है कि चीफ सिलेक्टर और मुख्य कोच एक ही व्यक्ति को नहीं बनाया जाना चाहिए। इसपर बात करते हुए उन्होंने कहा, “मेरी राय में, आपके पास एक प्रमुख कोच और एक चयनकर्ता के रूप में दोनों भूमिकाएं नहीं हो सकती हैं।

सोचिए किसी खिलाड़ी को कुछ टैक्निकल या मैंटल प्रॉब्लम हो तो आप अपने कोच से बात करना चाहेंगे लेकिन फिर करेंगे नहीं क्योंकि आपको चीफ सिलेक्टर द्वारा न सिलेक्ट करने का डर भी सताएगा। ”

इसके बाद न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन ने कहा, “मैं आपकी बात से सहमत हूं डीन, लेकिन इस उदाहरण में नहीं। एक कोच के रूप में आपका करियर प्रदर्शन पर निर्भर है, प्रदर्शन का एक बड़ा हिस्सा सही खिलाड़ियों टैक्निक और फिर एक संस्कृति विकसित करने के लिए है।”

Related posts