सरफराज खान ने रचा इतिहास लगातार लगाया दूसरा दोहरा शतक

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

एक बार फिर छाए 22 वर्षीय सरफराज खान, हिमाचल प्रदेश के विरुद्ध लगाया तूफानी दोहरा शतक 

एक बार फिर छाए 22 वर्षीय सरफराज खान, हिमाचल प्रदेश के विरुद्ध लगाया तूफानी दोहरा शतक

भारतीय क्रिकेट का भविष्य उज्जवल है ये घरेलू क्रिकेट के खिलाड़ियों को देख कर साफ़ तौर पर कहा जा सकता है. मुंबई के युवा खिलाड़ी सरफराज खान ने घरेलू क्रिकेट में अपने बल्ले से रन बरसना शुरू कर दिया है. उत्तर प्रदेश के खिलाफ तिहरा शतक के बाद अब उन्होंने हिमाचल प्रदेश के खिलाफ नाबाद दोहरा शतक जड़ दिया है.

सरफराज खान ने जड़ा लगातार दूसरा दोहरा शतक

एक बार फिर छाए 22 वर्षीय सरफराज खान, हिमाचल प्रदेश के विरुद्ध लगाया तूफानी दोहरा शतक 1

रणजी ट्रॉफी में मुंबई के खिलाड़ी सरफराज खान का जलवा बरक़रार है. उत्तर प्रदेश के खिलाफ 391 गेंद पर नाबाद 301 रन बनाने वाले सरफराज खान ने लगातार दूसरे मैच में हिमाचल प्रदेश के खिलाफ भी बल्ले से रन बरसाए हैं. पर उन्होंने 213 गेदों में नाबाद 226 रनों की पारी खेली है. उस पारी के बाद सरफराज अभी तक आउट नहीं हुए हैं.

मौजूदा समय में वो टी20 प्रारूप की तरह बल्लेबाजी करते हुए नजर आ रहे हैं. जिसके कारण मुंबई के टीम ने मैच के पहले दिन ही कड़ा शिकंजा कस लिया है. सरफराज खान पिछले कुछ समय से खेलते हुए नहीं नजर आ रहे थे. हालाँकि उनकी वापसी बहुत शानदार तरीके से हुई है.

मुंबई मैच के पहले मजबूत स्थिति में पहुंची

एक बार फिर छाए 22 वर्षीय सरफराज खान, हिमाचल प्रदेश के विरुद्ध लगाया तूफानी दोहरा शतक 2

उत्तर प्रदेश के खिलाफ ड्रा खेलने के बाद मुंबई की टीम अब हिमाचल प्रदेश के खिलाफ खेल रही है. एक समय शुरूआती झटके खाकर मुंबई मुसीबत में आ गयी थी. जिसके बाद कप्तान आदित्य तारे के साथ सरफराज खान ने अच्छी पार्टनरशिप की और टीम को मुश्किल से निकला. तारे ने 62 रन बनाये.

युवा सरफराज खान दिन का खेल खत्म होने पर नाबाद 226 रन बना कर खेल रहे हैं. उनकी पारी में 32 चौके और 4 छक्के शामिल है. शुभम रंजाने 44 रन बना कर खेल रहे हैं. जिसके मदद से दिन का खेल खत्म होने पर मुंबई की टीम ने 5 विकेट पर 372 रन बना लिए हैं.

एक और तिहरा शतक लगाना चाहेंगे सरफराज खान

एक बार फिर छाए 22 वर्षीय सरफराज खान, हिमाचल प्रदेश के विरुद्ध लगाया तूफानी दोहरा शतक 3

मैच के दूसरे दिन जब सरफराज खान बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरेंगे तो उनका लक्ष्य होगा की वो लगातार दूसरा तिहरा शतक भी जड़कर इतिहास बना दें. भारत के रणजी ट्रॉफी इतिहास में कोई भी खिलाड़ी लगातार दो तिहरा शतक लगाने में सफल नहीं हुआ है. हालाँकि अब इस युवा खिलाड़ी के पास गोल्डन चांस है.

 

Related posts