पाकिस्तान टीम के शर्मनाक प्रदर्शन पर फूटा पूर्व दिग्गज सरफराज नवाज का गुस्सा

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सरफराज ने विश्व कप बाद पाकिस्तान टीम के खिलाड़ियों पर लगाया ये आरोप 

सरफराज ने विश्व कप बाद पाकिस्तान टीम के खिलाड़ियों पर लगाया ये आरोप

इंग्लैंड एंड वेल्स में खेले गए आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में पाकिस्तान का सफर बेहद निराशाजनक रहा। टीम सेमीफाइनल में भी जगह बनाने में कामियाब नहीं रही। पाकिस्तानी खिलाड़ियों द्वारा किए प्रदर्शन से न तो उनके फैंस खुश हैं और न ही उनके देश के दिग्गज खिलाड़ी।

सरफराज ने विश्व कप बाद पाकिस्तान टीम के खिलाड़ियों पर लगाया ये आरोप 1

इसी क्रम में पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज तेज़ गेंदबाज़ सरफराज़ नवाज ने अपने निराशाजनक वर्ल्ड कप के लिए राष्ट्रीय टीम की आलोचना करते हुए कहा कि यह “पूरी तरह से दयनीय और बेकार” था।

भारत से मिली हार के बाद उबरा पाकिस्तान

पाकिस्तान अपनी चिर प्रतिद्वंदी टीम भारत के हाथों बुरी तरह हार गया। लेकिन इसके बाद टीम ने टूर्नामेंट में वापसी करते हुए लगातार दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, अफगानिस्तान और बांग्लादेश को पछाड़ा। हालांकि टूर्नामेंट में दूसरे मैच में ही उन्होंने चैंपियन इंग्लैंड टीम को हराया था।

सरफराज ने विश्व कप बाद पाकिस्तान टीम के खिलाड़ियों पर लगाया ये आरोप 2

लेकिन इसके बावजूद वह सेमीफाइनल में जगह बनाने में असफल रहे क्योंकि न्यूजीलैंड की नेट रन रेट पाकिस्तान से बेहतर थी। इसी के साथ पाकिस्तान का आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 का सफर खत्म हो गया।

नाराज़ है पाकिस्तान का पूर्व दिग्गज खिलाड़ी

पाकिस्तान के वर्ल्ड कप अभियान से निराशाजनक प्रदर्शन के बाद सरफराज का यह भी मानना ​​है कि कोचिंग स्टाफ और चयन समिति को इस्तीफा दे देना चाहिए। जबकि जिन लोगों की गरिमा होती है और जिम्मेदारी समझते हैं, वे खुद ही पद छोड़ देते हैं, लेकिन पाकिस्तान में ऐसा नहीं होता है।

“मुझे राष्ट्रीय टीम के अत्यधिक निराशाजनक प्रदर्शन के बाद चयन समिति, टीम प्रबंधन और सीओओ सुभान अहमद से इस्तीफे की उम्मीद थी, लेकिन कोई भी जिम्मेदारी स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है।

“मुझे आश्चर्य है कि पीसीबी वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के प्रदर्शन की सराहना कैसे कर रहा है। यह पूरी तरह से दयनीय और आश्चर्यजनक था।

साथ ही नवाज़ ने यह भी कहा,

पाकिस्तान को अन्य टीमों से एहसान की उम्मीद क्यों थी। उन्होंने भारत, न्यूजीलैंड और अन्य लोगों को दोषी ठहराया? जबकि हर कोई जानता है कि खुद सेमीफाइनल में जगह बनाई जाती है? दूसरों पर उंगली उठाना बहुत आसान है, लेकिन असफलता को स्वीकार करना बहुत कठिन है। ”

Related posts