बीसीसीआई ने इण्डिया के सभी विश्वकप मैच देखने वाले को 1लाख देने का निश्चय किया है

सूत्रों की मानें तो बीसीसीआई ने हाल ही में यह घोषणा की है कि भारत की विश्व कप 2015 के सभी मैचो को देखने वाले प्रत्येक दर्शक को एक लाख रूपये दिया जायेगा। (अरे हां!)
बीसीसीआई समिति ने 4 दिसंबर को विश्वकप के लिए 30 संभावित खिलाडियों की घोषणा के बाद भारत के कट्टर क्रिकेट प्रशंसकों से भुत सारा प्यार प्राप्त किया वे आम भारतीय प्रशंसको की तरह वीरेंद्र सहवाग , गौतम गंभीर , युवराज सिंह, हरभजन सिंह और जहीर खान को बाहर करने का फैसला नही किये भारत भर के सभी प्रशंसक इस फैसले से बहुत खुश हुए। अधिकांश प्रशंसकों ने बीसीसीआई के इस निर्णय का समर्थन किया हालाँकि कुछ प्रशंसको ने बीसीसीआई और स्पष्ट रूप से महेंद्र सिंह धोनी की कठोर शब्दों में निंदा की।
1.विश्व कप के लिए चेन्नई सुपर किंग (सीएसके) की ही टीम ले जाओ धोनी मैं युवी के बिना एक भी विश्वकप मैच नहीं देखना चाहते।
2.भारतीय टीम की जरूरत ही नही है ।
3.चैलेंज है बिना युवी के विश्वकप जीत के दिखा दो।
4.”भारत 2015 का वर्ल्ड कप तो आज ही हार गया।” “सहवाग की आग, युवी का करिश्मा, गंभीर की टिकाऊ पारी, जहीर की रफ्तार और हरभजन की फिरकी के बिना मैच जीतने की कल्पना भी नहीं की जा सकती।” “अब तो खुद गॉड भी बैटिंग और बॉलिंग करे फिर भी इंडिया ये वर्ल्ड कप नहीं जीतेगी।”
5.युवी और सहवाग के बिना मै विश्वकप नही देखूंगा और बाकी को भी बोलूँगा ये धोनी की टीम है भारत की नही ( एक महान घोषणा )
कुछ प्रशंसक जो चयनकर्ताओ से असहमत है ने एक रिपोर्टर से कहा-
यह हास्यास्पद और अविश्वसनीय है यह चयन कभी विश्वकप नही जीत सकती है सहवाग नही ? युवराज नही ? गंभीर नही ? हरभजन नही ?जहीर नही ? अरे यह टीम सेमीफाइनल तो दूर अपना ग्रुप लीग भी क्लियर नही कर पायेगी अगर आप मुझसे पूछें तो अनुभव के बिना इस टीम को क्रिकेट के मैदान पर जाने के बजाय डिज्नीलैंड जाना चाहिए हम भारत का एक भी विश्वकप मैच नहीं देखेंगे।
प्रशंसकों द्वारा इस तरह की सम्मान की बात सुनने के बाद बीसीसीआई के एक कर्मचारी ने कहा
उस डॉक्टर ने क्या आदेश दिया है वास्तव अंत में क्रिकेट असली विजेता है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Related Topics