महेंद्र सिंह धोनी के पक्ष में चेतेश्वर पुजारा का बड़ा बयान, लेकिन कोहली के लिए क्या कह डाला | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

महेंद्र सिंह धोनी के पक्ष में चेतेश्वर पुजारा का बड़ा बयान, लेकिन कोहली के लिए क्या कह डाला 

महेंद्र सिंह धोनी के पक्ष में चेतेश्वर पुजारा का बड़ा बयान, लेकिन कोहली के लिए क्या कह डाला

चेतेश्वर पुजारा को भरोसा है कि दुलीप ट्राफी की फॉर्म वह न्यूज़ीलैण्ड के विरुद्ध सीरीज में कायम रखेगे, भारत और न्यूज़ीलैण्ड की बीच टेस्ट सीरीज 22 सितम्बर से शूरू होगी.

सौराष्ट्र के बल्लेबाज़ पुजारा हमेशा से बड़ी पारिया खेलने के लिए जाने जाते हैं, और दुलीप ट्राफी की फाइनल में इंडिया ब्लू की ओर से खेलते हुये पुजारा ने कुछ ऐसे ही पारी खेली. पुजारा ने दुलीप की 3 पारियों में 166, 31 और नाबाद 256 रनों की पारी खेली. पुजारा ने दुलीप ट्राफी के फाइनल में नाबाद 256 रन बनाये, जिसकी मदद से ब्लू ने रेड को 355 रनों से हराकर खिताब पर कब्ज़ा किया.

पुजारा ने बीसीसीआई.टीवी से बात करते हुए कहा, अंडर-14 से ही मेरी लम्बी पारी खेलने की अदात रही हैं. जो मैंने अंडर-19 में कायम रखी, कुछ इसी तरह रणजी ट्राफी मैंने तिहरे शतक लगायें. एक बार जब मैं बड़ा रन बनाए शुरू करता हूँ, तब मैं अपना स्वाभाविक खेल को वापस पाने के लिए और मैं अधिक आश्वस्त रहता हूँ. इससे मेरी एकाग्रता बेहतर होती है, जिससे मैं गेंद को अच्छे से खेलने में ध्यान रख पाता हूँ. मैं बार जब 200 का आंकड़ा हासिल कर लेता हूँ, तब मुझे एक अलग ही आनंद महसूस होता हैं. रन बनाना और बड़े रन बनाने में मुझे बचपन से मज़ा आता हैं”.

यह भी पढ़े: रोहित शर्मा की वजह से टीम से अंदर बाहर चल रहे चेतेश्वर पुजारा ने कहा मुझे पता है विराट क्या चाहता है

पुजारा ने दुलीप ट्राफी के फाइनल में दोहरा शतक लगाया, जोकि पुजारा के करियर का 10वा प्रथम श्रेणी दोहरा शतक रहा. पुजारा ने सर्वाधिक दोहरे शतक मारने के विजय हजारे, सुनील गावस्कर और राहुल द्रविड़ के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली हैं. सिर्फ विजय मर्चेंट ने पुजारा से अधिक 11 दोहरे शतक लगाये हैं.

पुजारा ने कहा मैं हमेशा सकारात्मक रहता हूँ. मैं हमेशा विश्वास रखता हूँ कि मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूँ चाहे  बड़ी पारियां नहीं खेल पा रहा हूँ. मैंने राहुल द्रविड़ से बात की थी और उन्होंने मुझे कहा था कि तकनीकी में कोई कमी नहीं है. उन्होंने मुझे कहा कि यह खेल के मानसिक स्वरुप को बदलना है. जैसे ही मैंने सकारात्मक सोचना शुरू किया है, मैंने खुद से कहा कि मैं किसी भी परिस्तिथि में  बड़ी पारी खेल सकता हूँ, और सब ठीक हो जायेगा.

न्यूजीलैंड श्रृंखला पुजारा को एक नई शुरुआत प्रदान करेगा और बल्लेबाज शीर्ष क्रम में कुछ कड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिए इंतजार कर रही है. विशेष रूप से केएल राहुल, जो एक ड्रीम दौर से गुजर रहे हैं टीम में प्रतियोगिता एक बड़े ही स्तर तक पहुच गया हैं. यह हमारे लिए अच्छा हैं.

यह भी पढ़े: अजिंक्य रहाणे ने किया भारतीय टीम में उनके सबसे क्लोज फ्रेंड के नाम का खुलासा

केएल राहुल एक अच्छे बल्लेबाज़ है, और मेरे अच्छे दोस्त भी हैं. मैंने एक क्रिकेटर के तौर पर महसूस किया है कि आप हमेशा अपने साथियों के अच्छे खेल की चाह करनी चाहिए. मेरा मानना है कि यदि अन्य खिलाड़ियों सफल रहे हैं, आप उन खिलाड़ियों के पास जाकर उनका अनुभव अपने साथ सांझा कर सकते है, जोकि आपके लिए फायदेमंद होगा.

न्यूज़ीलैण्ड के विरुद्ध सीरीज के संदर्भ में बात करते हुए पुजारा ने कहा कभी-कभी अपने आप से बात करते है, कि पहले अपने इस विशेष टीम के विरुद्ध अच्छा प्रदर्शन किया हैं, लेकिन क्रिकेट वर्तमान में चलता हैं. मैंने न्यूज़ीलैण्ड के विरुद्ध शतक लगाया है, लेकिन वो वर्ष 2012 की बात हैं. आप उस टेस्ट से विश्वास हासिल नहीं कर सकते हैं. इससे अच्छा से नेट में जाकर पहले टेस्ट के लिए अभ्यास करने को ज्यादा अच्छा समझता हूँ.

यह भी पढ़े: रोहित शर्मा के खिलाफ उतरे पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली, दिया विवादित बयान

पुजारा ने कोहली और धोनी की कप्तानी की सामान्य बात का जिक्र करते हुए कहा, कोहली और धोनी दोनों में एक चीज़ सामान्य है कि दोनों मैच जीतना चाहते हैं. दोनों कप्तानो के अंतर्गत ड्रेसिंग रूम का वातावरण बेहद अच्छा रहता हैं. मैंने माही भाई के अंडर बहुत एन्जॉय किया है और इस समय मौजूदा कप्तान कोहली के अंडर भी बहुत एन्जॉय कर रहा हूँ. कोहली बहुत ही सरल है और हमेशा कुछ उदहारण सेट करते हैं.

Related posts