सहवाग ने साधा मॉर्गन पर निशाना लेकिन मॉर्गन ने मारी बाज़ी

Ajay Pal Singh / 03 September 2016

वीरेंद्र सहवाग और पिएर्स मॉर्गन के बीच ट्विटर पर युद्ध उस समय से चल रहा है जब से मॉर्गन ने भारतीय ओलिम्पिक खिलाड़ियों को लेकर एक टिपण्णी करते हुए कहा था, कि 12,00,000,000 की जनसँख्या और एक भी स्वर्ण पदक नहीं ओलिम्पिक्स में, भारत यह आपके लिए शर्मनाक है.

इस पर भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज़ ने पलटवार करते हुए कहा था, कि हम छोटी छोटी बातों में खुशियाँ ढूँढना जानते है, लेकिन इंग्लैंड जिन्होंने क्रिकेट का अविष्कार किया वो एक बार भी विश्वकप नहीं जीत सके. यह शर्मनाक है.

यह भी पढ़े : वीरेंद्र सहवाग ने एक बार फिर मचाया ट्विटर पर धमाल, ब्रेडमैन कों किया अनोखे अंदाज में बर्थडे विस

इंग्लिश पत्रकार और नजफगढ़ के नवाब के बीच यह ट्विटर युद्ध तब और बढ़ा जब मॉर्गन ने एक और ट्वीट करके लिखा, कि सहवाग मैं तुमसे 10 लाख की शर्त लगता हूं कि भारत के ओलिम्पिक गोल्ड जीतने से पहले  इंग्लैंड विश्वकप जीत जायेगा.

इस ट्वीट पर सहवाग ने एक ऐसा जवाब दिया कि पिएर्स मॉर्गन भी बिलकुल हक्के बक्के रह गए. सहवाग ने लिखा कि

“कुछ लोगों की किस्मत इतनी ख़राब होती है कि वो बार बार कोशिश करते है लेकिन उन्हें जवाब नहीं मिलता.”

आज सहवाग ने ट्विटर पर चली आ रही इस जंग को एक बार फिर हवा दे दी. सहवाग ने अपने ट्विटर पर बिना मॉर्गन का नाम लिए उन पर निशाना साधते हुए कहा, कि

— Virender Sehwag (@virendersehwag) September 2, 2016

 

“अर्नब गोस्वामी मुझे अपने शो न्यूज़ ऑवर पर बुलाना चाहते थे, और चाहते थे कि मैं उस अंग्रेजी पत्रकार के भारत के प्रति विचारों पर बोलू. लेकिन वो आदमी बिलकुल भी एयरटाइम के काबिल नहीं है इसलिए मैंने मना कर दिया.”

और कुछ ही देर बाद मॉर्गन ने भी पलटवार किया और सहवाग के उस ट्वीट को टैग करते हुए लिखा, कि

यह भी पढ़े : इंग्लैंड के पत्रकार ने दिया सहवाग को चैलेंज

“आपका मतलब आप डर गए, मैं भी भाग जाता अगर मुझे भारत के ओलम्पिक रिकॉर्ड को बचाना होता तो”

इस बार सहवाग का ट्वीट उन पर भारी पड़ गया, अब देखते है कि नजफगढ़ के नवाब कैसे वापसी करते है.