मैदान पर मारपीट करने की वजह से बांग्लादेश गेंदबाज पर लगा 5 साल का प्रतिबंध 1

बांग्लादेश के घरेलू राष्ट्रीय क्रिकेट लीग में दो खिलाड़ियों के बीच रविवार को मारपीट हुई। इसमें तेज गेंदबाज शहादत हुसैन और अराफात सनी जूनियर शामिल थे। शहादत ने अपने ही टीम के खिलाड़ी सनी से मारपीट की। उन्होंने थप्पड़ और लात से मारा। शहादत ने उन्हें गेंद चमकाने को कहा और इसी पर दोनों के बीच विवाद हो गया।

बीसीबी ने सुनाई सजा

मैदान पर मारपीट करने की वजह से बांग्लादेश गेंदबाज पर लगा 5 साल का प्रतिबंध 2

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने इस मामले में शहादत हुसैन को दोषी पाया है। इसके बाद उन्हें सजा का ऐलान भी हो गया है। इस मामले में बोर्ड ने उन्हें पांच साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया, जिसमें दो साल की सजा निलंबित है।

इसके साथ ही उनपर तीन लाख टका यानी करीब 3540 डॉलर का जुर्माना भी लगाया गया था। यह मुकाबला ढाका और खुलना के बीच खेले गया था। गेंद चमकाने के विवाद को लेकर दोनों खिलाड़ी आपस में भिड़े थे।

मैदान पर मारपीट करने की वजह से बांग्लादेश गेंदबाज पर लगा 5 साल का प्रतिबंध 3

बोर्ड की तरफ से आया बयान

मैदान पर मारपीट करने की वजह से बांग्लादेश गेंदबाज पर लगा 5 साल का प्रतिबंध 4

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड की तरफ से इसपर बयान आया है। उनका कहना है कि उनके पिछले बर्ताव को ध्यान में रखते हुए यह सजा दी गयी है। इससे पहले शहादत हुसैन पर अपनी पत्नी की प्रताड़ित करने का आरोप लगा था। 2015 में उन्हें दो महीने जेल में बिताने पड़े थे।

बीसीबी की तकनीकी समिति के प्रमुख मिनहाजुल अबेदिन ने कहा, “उसके अतीत बर्ताव को ध्यान में रखते हुए हमने उसे पांच साल के लिए सजा देने का फैसला किया। इस प्रतिबंध के अंतिम दो साल निलंबित रहेंगे।”

शहादत हुसैन का करियर

मैदान पर मारपीट करने की वजह से बांग्लादेश गेंदबाज पर लगा 5 साल का प्रतिबंध 5

शहादत हुसैन ने बांग्लादेश के लिए 2005 मम्मे डेब्यू किया था। उन्होंने टीम के लिए अंतिम मुकाबला 2015 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था।इस दौरान उन्होंने 38 टेस्ट, 51 वनडे और 6 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले थे।

33 वर्षीय तेज गेंदबाज टेस्ट में उनके नाम 72, वनडे में 47 और टी-20 इंटरनेशनल में 4 विकेट हैं। इन बैन के बाद उनका करियर लगभग समाप्त हो गया है। 24 वर्षीय आराफात सनी जूनियर ने अभी तक कोई इंटरनेशनल मुकाबला नहीं खेला है।