शाहिद अफरीदी ने कहा, भारतीय खिलाड़ी मांगते थे हारने के बाद माफ़ी, लेकिन आंकड़ो की सच्चाई हैं कुछ ऐसी 1

पिछले कुछ समय से शाहिद अफरीदी भारत के खिलाफ जहर उगल कर सुर्खियों में बने रहने की कोशिश कर रहे हैं. पिछले कुछ वक्त से वह कश्मीर, भारतीय सेना और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर विवादित बयान देते रहे हैं. कुछ दिन पहले उन्होंने भारतीय टीम को लेकर भी आपतिजनक शब्द कह डाले थे.

भारत के खिलाड़ी हमसे मांगते थे माफ़ी

शाहिद अफरीदी

क्रिक कास्‍ट के यूट्यूब शो पर सवेरा पाशा के साथ बातचीत में पाकिस्तान के पूर्व ऑलराउंडर  शाहिद अफरीदी ने कहा, ”हमने भारत के खिलाफ खेलना हमेशा पसंद किया है. हमने अनेक बार भारत को बुरी तरह हराया है. हमने उनकी इतनी पिटाई की है कि वे मैच के बाद हमसे माफी मांगते थे. 

सच्चाई ये की अफरीदी के रहते भारत का अच्छा प्रदर्शन

शाहिद अफरीदी ने कहा, भारतीय खिलाड़ी मांगते थे हारने के बाद माफ़ी, लेकिन आंकड़ो की सच्चाई हैं कुछ ऐसी 2

शाहिद अफरीदी के रहते पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ 8 टी-20 मुकाबले खेले जिसमें से सात में भारत को जीत मिली. यानी पाकिस्तान ने सिर्फ एक मैच ही जीता है.

वहीं अफरीदी ने भारत के खिलाफ 67 मैचों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया पाकिस्तान ने 36 मुकाबले जीते और भारत ने 29 मैच जीते थे. यहां आपको पाकिस्तान का पलड़ा भारी नजर आ सकता है, लेकिन बीते 10 मुकाबलों की बात करें तो भारत ने पाकिस्तान को सात बार हराया है और पाकिस्तान ने सिर्फ तीन मुकाबले जीते हैं.

आकंड़ो से साफ़ नजर आता है, अफरीदी के रहते पाकिस्तान की टीम टी-20 में भारत के आस-पास भी नहीं थी. वहीं वनडे में वह पाकिस्तान को बराबर की टक्कर देती थी.

सच्चाई ये की अफरीदी का भारत के खिलाफ बेहद खराब रिकॉर्ड

शाहिद अफरीदी ने कहा, भारतीय खिलाड़ी मांगते थे हारने के बाद माफ़ी, लेकिन आंकड़ो की सच्चाई हैं कुछ ऐसी 3

अब अगर भारत के खिलाफ शाहिद अफरीदी के वनडे रिकॉर्ड की बात करें, तो उन्होंने 25.40 के औसत से रन बनाए थे. अफरीदी का करियर गेंदबाजी औसत जहां 34.52 का है वहीं भारत के खिलाफ यह 60.52 का हो जाता है.

गेंदबाजी औसत बताता है कि एक गेंदबाज ने एक विकेट के लिए कितने रन खर्च किए. यानी अफरीदी के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों ने जमकर रन कूटे और उन्हें भारत के खिलाफ ज्यादा विकेट भी हासिल नहीं हो पाते थे.

भारत के खिलाफ 8 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबलों में अफरीदी ने 7.57 की मामूली औसत से कुल 53 रन ही बनाए हैं और साथ ही गेंदबाजी में उन्होंने 52.25 के औसत से सिर्फ चार विकेट लिए हुए हैं.

इन आंकड़ो से साफ़ पता चलता है कि अफरीदी हवाहवाई बात कर रहे हैं. उनके रहते कभी भी पाकिस्तान की टीम भारत पर हावी नहीं रही है और ना ही उनका प्रदर्शन भारत के लिए खिलाफ अच्छा रहा है.

 

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul