न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के फाइनल के बाद शाहिद कपूर ने ट्वीट कर यही बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

World Cup 2019: इंग्लैंड के विश्व कप जीतने के बाद आईसीसी पर भड़के शाहिद कपूर, बताया क्यों न्यूज़ीलैंड को बनना चाहिए था विजेता 

World Cup 2019: इंग्लैंड के विश्व कप जीतने के बाद आईसीसी पर भड़के शाहिद कपूर, बताया क्यों न्यूज़ीलैंड को बनना चाहिए था विजेता

इंग्लैंड और वेल्स में खेले गये आईसीसी एकदिवसीय विश्व कप का अंत हुआ. टूर्नामेंट जीतने की प्रबल दावेदार मानी जा रही इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने वर्ल्ड कप जीतकर नायाब इतिहास रचा. इंग्लैंड क्रिकेट के इतिहास में पहली बार विश्व कप जीतने में कामयाब हुई. फाइनल मैच का नतीजा सुपर ओवर से निकला और इंग्लैंड ने ज्यादा ‘बाउंड्री’ लगाने के चलते यह वर्ल्ड कप जीता.

फाइनल मैच के अंतिम ओवर में मेजबान टीम को ओवरथ्रो के चार अतिरिक्त रन मिलना और सुपर ओवर भी टाईड होने पर ‘बाउंड्री’ के आधार पर इंग्लैंड का विजेता बनाना किसी को रास नहीं आया.

शाहिद कपूर भी हुए निराश

World Cup 2019: इंग्लैंड के विश्व कप जीतने के बाद आईसीसी पर भड़के शाहिद कपूर, बताया क्यों न्यूज़ीलैंड को बनना चाहिए था विजेता 1

इंग्लैंड के विश्व कप जीतने के बाद आईसीसी के नियमों पर हर किसी ने अपनी निराशा व्यक्त की. फाइनल मैच का क्रेज इतना था, कि हर किसी की सांसे अंतिम पल तक रुकी रही. मैच खत्म होने के बाद बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर भी आईसीसी के नियम पर भड़के हुए नजर आये. शाहिद कपूर ने ट्वीट करते हुए कहा,

”यह विश्व कप दोनों टीमों के बीच शेयर होना चाहिए था. अगर इंग्लैंड ने मैच में ज्यादा बाउंड्री लगाई तो न्यूजीलैंड भी सबसे ज्यादा विकेट लेने में सफल रही. यह मापदंड वाकई में बकवास है. दोनों टीमों के सभी 22 खिलाड़ियों ने अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाया, तो ऐसे में आप सिर्फ 11 खिलाड़ी को बेस्ट कैसे महसूस करा सकते हो.”

न्यूजीलैंड के लिए हुआ दुख

World Cup 2019: इंग्लैंड के विश्व कप जीतने के बाद आईसीसी पर भड़के शाहिद कपूर, बताया क्यों न्यूज़ीलैंड को बनना चाहिए था विजेता 2

न्यूजीलैंड की टीम लगातार दूसरी बार विश्व कप के फाइनल मैच में हारी. किवी टीम ने भले ही टूर्नामेंट ना जीत सकी हो, लेकिन पूरे विश्व का दिल जरुर जीतने में सफल रही. शाहिद कपूर ने आगे ट्वीट कर कहा,

”मैं दोनों में किसी टीम को सपोर्ट नहीं कर रहा था, सिर्फ एक शानदार मैच देख रहा था. मगर मुझे किवी टीम के लिए बहुत बुरा लगा. इंग्लैंड ने भी काबिले तारीफ खेल दिखाया, लेकिन किवी टीम भी पीछे नहीं रही. न्यूजीलैंड सेकंड टीम बनाने की हकदार नहीं थी… बिलकुल नहीं…”

 

Related posts