ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी वनडे मैच में मोहम्मद शमी के पास होगा इतिहास रचने का मौका 1

विराट कोहली की अगुआई में टीम इंडिया इस समय ऑस्ट्रेलिया दौरे पर है. दौरे के पहले हिस्से में हुई वन-डे सीरीज़ भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार चुकी है. बुधवार 3 दिसंबर को तीसरा और आखिरी वन-डे जीतकर क्लीन स्वीप से बचने का मौका है. दोनों टीमों के  बीच एकदिवसीय सीरीज़ का तीसरा मैच कैनबरा के मानुका ओवल मैदान पर खेला जाएगा. शुरुआती दोनों वन-डे सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेले गए थे. दोनों ही मैच में भारतीय गेंदबाज़ी बुरी तरह बेअसर साबित हुई.

अभी तक बेअसर रही है गेंदबाज़ी

मोहम्मद शमी

टीम के प्रमुख पेसर जसप्रीत बुमराह गेंद से प्रभावित करने में नाकाम रहे. इसी वजह से उनकी काफ़ी आलोचनाएं भी हो रही हैं. बुमराह के अलावा मोहम्मद शमी भी गेंदबाज़ी में बेअसर ही नज़र आए हैं. वो एक अलग बात है कि पहले एकदिवसीय में बाकी गेंदबाज़ों के मुकाबले शमी का ग्राफ़ काफ़ी अच्छा रहा था.

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेले गए पहले वन-डे में शमी ने 6 रन कम के इकॉनमी रेट से तीन विकेट चटकाए थे. लेकिन बात दूसरे मैच की करें तो शमी लाइन-लेंग्थ से बिल्कुल भटके हुए थ. जिसका फ़ायदा ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों ने खूब उठाया. दोनों मैचों में मिली हार के बाद टीम की निगाह शमी पर है कि कैनबरा वो गेंद से कितना बेहतर कर पाएंगे.

कैनबरा में है शानदार मौका

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी वनडे मैच में मोहम्मद शमी के पास होगा इतिहास रचने का मौका 2

बीते कुछ सालों के क्रिकेट की बात की जाए को तीनों ही प्रारूपों में शमी का प्रदर्शन शानदार रहा है. इस समय भारतीय टीम में उनकी भूमिका एक ऐसे बॉलर की है जो कभी खेल की तस्वीर बदल सकता है. हालांकि इस सब के बीच इस तेज़ गेंदबाज़ का रिकॉर्ड शायद कुछ क्रिकेट प्रेमियों को याद नहीं है.

मोहम्मद शमी सीमित ओवरों की क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. इसी प्रदर्शन की बदौलत वो अब अजित अगरकर के 18 साल पुराने एक रिकॉर्ड को तोड़ने की कगार पर हैं. शमी ने अभी तक 79 वन-डे मैच खेल कर 148 विकेट चटकाए हैं, कैनबरा वन-डे में उनके पास सबसे तेज़ 150 विकेट लेने वाला भारतीय गेंदबाज़ बनने का शानदार मौका है.

 अगरकर के रिकॉर्ड से महज़ 2 विकेट की दूरी पर हैं शमी

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी वनडे मैच में मोहम्मद शमी के पास होगा इतिहास रचने का मौका 3

कैनबरा में होने वाले तीसरे और आखिरी वन-डे में शमी दो विकेट लेते ही सबसे तेज़ 150 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज़ बन जाएंगे. इसके वाले दूसरे विकेट के साथ ही सबसे तेज़ 150 विकेट लेने वाले वो दुनिया के तीसरे गेंदबाज बन जाएंगे. उनसे पहले इस लिस्ट में मिचेल स्टार्क और सकलैन मुश्ताक़ पहले और दूसरे नंबर पर बने हुए हैं.  अब देखना ये है कि लगातार औसत प्रदर्शन के बीच शमी ये रिकॉर्ड बना पाते हैं या नहीं.