शास्त्री का करार खत्म, वार्न बनना चाहते है भारतीय टीम का कोच | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

शास्त्री का करार खत्म, वार्न बनना चाहते है भारतीय टीम का कोच 

शास्त्री का करार खत्म, वार्न बनना चाहते है भारतीय टीम का कोच

विश्वकप में सेमीफाइनल की हार के साथ एक तरफ जहाँ भारतीय टीम विश्वकप से बाहर हुई है, वहीं दूसरी तरफ टीम के डायरेक्टर रवि शास्त्री का करार भी खत्म हो गया है, और अब बीसीसीआई शास्त्री के डायरेक्टर पद को आगे नहीं बढ़ाना चाहती है, बीसीसीआई अब भारतीय टीम के लिए एक पूर्णकालिक कोच चाहती है. जिसका फैसला सीएसी (क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी) करेगी, इस कमेटी में सचिन, लक्ष्मण और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली है, ये तीनों जिसके नाम पर फैसला लेंगे वहीं भविष्य में भारत का कोच बनेगा, जिसका फैसला 3 अप्रैल के बाद होगा.

शास्त्री का करार खत्म, वार्न बनना चाहते है भारतीय टीम का कोच 1

बीसीसीआई सेक्रेटरी अनुराग ठाकुर ने कहा, “अब रवि शास्त्री का करार खत्म हो चूका है, अब हम परमानेंट कोच चाहते है, अब शास्त्री की जगह परमानेंट कोच ही होगा, जिसका फैसला सीएसी करेगी.”

वहीं जब ठाकुर से पूछा गया, कि कुछ सीनियर खिलाड़ी रवि शास्त्री को कोच बनाये जाने के पक्ष में है, तो ठाकुर ने कहा, इस पर अंतिम फैसला सीएसी करेगी, सीएसी ही कोच के पद के लिए लोगों को शार्टलिस्टेड करेगी, जिसकी बैठक 3 अप्रैल को हो सकता है.

वहीं ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज खिलाड़ी शेन वार्न ने एक इंटरव्यू में कहा, कि अगर उन्हें मौका मिला, तो वो भारतीय टीम का कोच बनना चाहेंगे. वार्न ने कहा, “भारतीय टीम टैलेंटेड है, उन से 1 करोड़ से अधिक लोगो की खेल भावना जुड़ी होती है, जिस से उन पर काफी दबाव होता है, अगर ऐसे में वो गलती करेंगे तो उसका खामियाजा तो भुगतना ही पड़ेगा न.”

वार्न ने कहा, कि “मैंने जिंदगी में किसी चीज के लिए ना नहीं कहा, फिर चाहे टीम इंडिया को कोचिंग देने की बात हो या आईपीएल टीम को. मैं क्रिकेट से जुड़ा रहना चाहता हूं.”

वार्न ने भारतीय टीम की हार पर कहा, कि “सेमीफाइनल में टीम इंडिया ने बेसिक्स पर सही से काम नहीं किया, कुछ नो बॉल्स किया, मैं टीम की हार से इसलिए दुखी था क्योंकि मैच के पहले ही मेरे लिए यही टीम फेवरेट थी.”

वहीं कोहली के बारे में बात करते हुए इस दिग्गज ने कहा, कि “भारतीय टीम को कोहली पर ज्यादा डिपेंड नहीं रहना चाहिए था, वेस्ट इंडीज के खिलाफ भी उन्होंने शानदार बैटिंग की लेकिन बॉलिंग खराब रही, ओस ने स्पिनर्स को परेशान किया.”

 

Related posts