भारतीय टीम

चौथे टेस्ट में इंग्लैंड की टीम 205 रन के स्कोर पर आउट हो गई थी. इसके जवाब में भारतीय टीम पहली पारी में 365 रन के स्कोर पर आउट हो गई थी. दूसरी पारी में इंग्लैंड 135 रन के स्कोर पर आउट हो गई और भारत ने यह मैच एक पारी और 25 रन के अंतर से जीत लिया. 3-1 से सीरीज जीत के बाद भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने एक बयान दिया है.

सीरीज जीत एक बेहतरीन अहसास

IND vs ENG : कोच रवि शास्त्री ने चौथे टेस्ट जीत का श्रेय इन 2 खिलाड़ियों को दिया 1

रवि शास्त्री ने इस बात को माना है कि ऋषभ पंत और वाशिंगटन सुंदर की साझेदारी भारतीय टीम के लिए काफी अहम रही है. उन्होंने इन 2 खिलाड़ियों को चौथे टेस्ट मैच की जीत का श्रेय देते हुए कहा, “सीरीज जीतना बेहतरीन अहसास है. युवाओं को कठिन परिस्थितियों में प्रदर्शन करते देखना संतोषजनक है.

हम इस मैच में एक समय दबाव पर थे और वहां से जिस तरह पंत और वाशि ने खेला, वहां से 360 तक पहुंचना अविश्वसनीय था. हमने युवाओं के लिए अवसर दिए हैं और उन्होंने उन अवसरों को पकड़ा है.”

टेस्ट चैंपियनशिप के बारे में कभी नहीं सोचा

ravi shastri

रवि शास्त्री ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, “लड़कों ने एक समय में केवल एक सीरीज ली. टेस्ट चैंपियनशिप के बारे में कभी नहीं सोचा था. चेन्नई में पहले टेस्ट के वक्त लड़के थक गए थे और उनका उत्साह बढ़ाने के लिए दर्शक भी नहीं थे.

इन जैसी पिचों की शिकायत कौन करेगा. मैदान के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया है. 3-1 की स्कोरलाइन दर्शाती नहीं है कि श्रृंखला कितनी करीब थी.

यह इंग्लैंड में हमारी श्रृंखला की तरह है जिसमें हम 1-4 से हार गए. इंग्लैंड के पास अपने क्षण थे और अगर वे उन्हें पकड़ लेते, तो वह एक अलग परिणाम पा सकते थे. सपोर्ट स्टाफ ने भी लड़कों का सर्वश्रेष्ठ बाहर निकालने के लिए घंटों और घंटों काम में लगा दिए हैं.”

ऋषभ पंत शानदार रहे

IND vs ENG : कोच रवि शास्त्री ने चौथे टेस्ट जीत का श्रेय इन 2 खिलाड़ियों को दिया 2

रवि शास्त्री ने ऋषभ पंत की तारीफ करते हुए अपने बयान में कहा, “ऋषभ पंत शानदार रहे हैं. हम उस पर एक समय काफी कठोर भी थे. हमने उनसे बोला कि आपकों इस खेल का थोड़ा और सम्मान करना होगा. वह अपना वजन कम करने और कड़ी मेहनत करने के लिए तैयार हो गया. हमें पता है कि उसके पास कितनी प्रतिभा है और उसने जवाब दिया है.

कल की पारी भारत में मैंने देखी सबसे अच्छी पारियों में से एक थी. यह दो चरण की पारी थी. उन्होंने रोहित के साथ अपने नेचुरल गेम के खिलाफ जाकर एक साझेदारी बनाई यह करना आसान नहीं है और 50 के बाद उसने अपना नेचुरल गेम खेला.”
 

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul