शिखर धवन ने बताया वो वजह जिसकी वजह से अपने पत्नी और बच्चो को नहीं लाना चाहते हैं भारत 1

ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर टी-20 सीरीज खेलने के बाद भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन टीम का हिस्सा नहीं हैं। बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में भारतीय टीम खेल जरूर रही है, लेकिन इसमें शिखर धवन नहीं खेल रहे हैं। भले ही ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर टी-20 सीरीज खेलने के बाद धवन ना खेल रहे हो लेकिन इनका ऑस्ट्रेलिया से खास रिश्ता है।

शिखर धवन भारत नहीं बल्कि रहते हैं मेलबर्न में

भारतीय टीम के अनुभवी बल्लेबाज शिखर धवन का ऑस्ट्रेलिया में भारत के बाद दूसरा सबसे खास जुड़ाव है, क्योंकि उनकी पत्नी आयशा धवन ऑस्ट्रेलिया की रहने वाली ही है, जिन्हें शिखर धवन ने अपना जीवनसाथी चुना।

शिखर धवन ने बताया वो वजह जिसकी वजह से अपने पत्नी और बच्चो को नहीं लाना चाहते हैं भारत 2

आयशा धवन दिल्ली में शिखर धवन के साथ नहीं बल्कि ये दोनों ही आयशा के ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न स्थित घर में रहते हैं। शिखर धवन भी आयशा के साथ मेलबर्न में शिफ्ट हो गए हैं।

धवन ने किया ऑस्ट्रेलिया में रहने के अनुभव को साझा

भारतीय टीम के बल्लेबाज शिखर धवन ने अपने ऑस्ट्रेलिया रहने के अनुभव को एक कॉलम के जरिए साझा किया जिसमें शिखर धवन ने लिखा कि” मेरा परिवार पिछले 6 सालों से मेलबर्न में रह रहा है। मैं एक साल में करीब 250 दिन भारतीय टीम के साथ और मेरी आईपीएल और घरेलू टीम के साथ निकालता हूं।”

शिखर धवन ने बताया वो वजह जिसकी वजह से अपने पत्नी और बच्चो को नहीं लाना चाहते हैं भारत 3

“ये बहुत क्रेजी और बहुत ही गहन लाइफ स्टाइल है, लेकिन जब मेरे शेड्यूल में गैप होता है तो मैं विमान से सीधे भारत से ऑस्ट्रेलिया चला जाता हूं। और मैं अपने परिवार के साथ समय बिताता हूं। मैं उन्हीं के लिए हूं।”

इस कारण से आयशा के साथ मेलबर्न में रहने का ही किया फैसला

शिखर धवन ने आयशा के साथ अपने प्यार को लेकर कहा कि “आयशा और मैं इंटरनेट लव पर विश्वास नहीं करते हैं। हममें से कोई भी उसकी तलाश में नहीं रहता है। हमारी केमिस्ट्री पहले दिन से ही है। हम एक साथ हंसते हैं और कई अद्भुत बातें करते हैं। ये दोस्ती के लिए सबसे अच्छी चीज है। “

शिखर धवन ने बताया वो वजह जिसकी वजह से अपने पत्नी और बच्चो को नहीं लाना चाहते हैं भारत 4

“हमने फैसला किया था कि हम जल्द ही मेलबर्न में बस जाएंगे। आयशा का वहां पर घर है और लड़कियां स्कूल जाती हैं। उन्हें भारत ले जाने का मतलब होता कि वो मूल रूप से शून्य से शुरुआत करती जो उचित नहीं होता। मैं तो क्रिकेट की यात्रा में ही रहता हूं।”

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें। अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आपको हम जल्दी पहुंचा सके।