Shoaib Akhtar

27 दिसंबर, रविवार को आईसीसी ने दशक की सर्वश्रेष्ठ वनडे, टी20 और टेस्ट टीम की प्लेइंग इलेवन का ऐलान कर दिया है. जिसमें भारतीय खिलाड़ियों को बड़ा सम्मान दिया गया है. हालांकि टी-20 की बात करें तो इसमें एक भी पाकिस्तान के खिलाड़ी का नाम शामिल नहीं है. जिस पर पाक के पूर्व क्रिकेटर शोएब अख्तर बुरी तरह से भड़क गए हैं.

दशक की टी-20 प्लेयर लिस्ट से नाराज शोएब अख्तर

Shoaib Akhtar-icc t-20 list

दरअसल आईसीसी की ओर से जारी की गई इस लिस्ट को देखने के बाद शोएब अख्तर का पूरा गुस्सा आईसीसी पर ही फूट पड़ा है. उनका कहना है कि भारत के आगे आईसीसी की एक भी नहीं चलती. इसलिए आईसीसी ने टी-20 टीम के बजाय आईपीएल के टीम की लिस्ट रिलीज कर दी है.

भारत के पूर्व कप्तान और शानदार विकेटकीपर धोनी को आईसीसी ने टी-20 और वनडे टीम का कप्तान और विकेटकीपर घोषित किया है. जिसे देखने के बाद लगता है कि, शोएब अख्तर को ये बात हजम नहीं हो रही है इसलिए उन्होंने आईसीसी को ही सवालों के कटघरे में लाकर खड़ा कर दिया है.

आईसीसी पर फूटा शोएब अख्तर का गुस्सा

shoaib akhtar

दशक के सर्वश्रेष्ठ टी-20 लिस्ट के बारे में अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए शोएब अख्तर ने कहा कि,

“आईसीसी ने खिलाड़ियों के नाम की घोषणा तो कर दी. लेकिन मेरे हिसाब से आईसीसी से कोई भूल हो गई. उसे याद ही नहीं रहा कि, पाकिस्तान भी बोर्ड मेंबर का हिस्सा है. यही नहीं पाकिस्तान की टीम भी टी-20 मैच खेलती है. क्या आईसीसी ने इस लिस्ट में बाबर आजम जैसे खिलाड़ियों को भी शामिल करने के जरूरत नहीं समझी. जो टी-20 में नंबर 1 का खिलाड़ी है”.

इसके आगे बात करते हुए शोएब अख्तर ने यह भी कहा कि,

“अगर विराट कोहली और बाबर आजम के रन रेट की तुलना करें तो ये काफी निराशाजनक होने वाली बात है. आईसीसी आईपीएल टी-20 टीम की नहीं, वर्ल्ड क्रिकेट के दशक की टी20 टीम का ऐलान करना चाहिए था. आईसीसी को शर्म आनी चाहिए”.

आईसीसी को सिर्फ अपने पैसो से है मतलब

ICC

आईसीसी पर बुरी तरह से भड़के शोएब अख्तर यहीं चुप नहीं हुए, आगे उन्होंने यह भी कहा कि,

”दशक की टी-20 लिस्ट में आईसीसी ने एक भी पाकिस्तान के खिलाड़ी को शामिल नहीं किया. हालांकि दशक की आईसीसी टी-20 टीम की हमें कोई आवश्यकता भी नहीं है, क्योंकि बोर्ड की तरफ से दशक के आईपीएल टीम का ऐलान किया गया है. आईसीसी ने तो क्रिकेट का बेड़ा गर्क करके रख दिया है. इससे पता चलता है कि आईसीसी को केवल अपने पैसों की पड़ी है. भारत के आगे आईसीसी की हवा टाइट हो जाती है”

ऐसी रही विश्व के दशक की टी-20 प्लेइंग 11