शोएब अख्तर ने कहा भारतीय टीम के निचले क्रम के बल्लेबाज लगाते थे आउट होने की गुहार 1

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज शोएब अख्तर अक्सर अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहते हैं. शोएब अख्तर अजीबो-गरीब बयान देते रहते हैं और अब उन्होंने एक और चौंकाने वाला बयान दिया है. शोएब अख्तर ने कहा है कि जब वो गेंदबाजी करते थे तो भारतीय टीम के निचले क्रम के खिलाड़ी उनसे काफी डरते थे. वो मुझसे कहते थे कि आउट कर लो लेकिन शरीर पर मत मारो.

आउट कर लो लेकिन शरीर पर मत मारो

शोएब अख्तर ने कहा भारतीय टीम के निचले क्रम के बल्लेबाज लगाते थे आउट होने की गुहार 2

पाकिस्तान की मशहूर जनर्लिस्ट सवेरा पाशा के क्रिक कास्ट यू-ट्यूब शो पर शोएब अख्तर ने इस विषय पर विस्तार से चर्चा की है. इस दौरान रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर इस खिलाड़ी ने कहा कि,

“कई खिलाड़ी ऐसे थे जो मेरी गेंदबाजी से काफी डरते थे. मुथैया मुरलीधरन को काफी डर लगता था. इसके अलावा भारतीय टीम के कई पुछल्ले बल्लेबाज थे. वे सभी मुझसे कहते थे कि आउट कर लो लेकिन मारना मत क्योंकि इससे उन्हें काफी चोट लगती थी. वो मुझसे कहते थे कि हमारे बच्चे हैं, बीवी है और हमारे माता-पिता डर जाते हैं.”

शोएब अख्तर ने कहा मुरलीधरन भी डरते थे

शोएब अख्तर ने कहा भारतीय टीम के निचले क्रम के बल्लेबाज लगाते थे आउट होने की गुहार 3

शोएब अख्तर ने कहा कि श्रीलंका के पूर्व दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन मुझसे कहते थे कि मैं उनके सामने धीमी गेंदबाजी करुं. अख्तर ने कहा कि मुरलीधरन उनसे कहते थे कि धीमे गेंद डालो मैं खुद ही स्टंप के आगे से हट जाउंगा और जल्द आउट हो जाउंगा. शोएब अख्तर ने आगे बताया कि,

मोहम्मद यूसुफ मुझसे कहते थे कि मुरलीधरन की उंगली तोड़ दो क्योंकि उनकी स्पिन गेंदों को वो खेल नहीं पाते थे. मैंने मुरलीधरन को बाउंसर गेंदें फेंकी तो इस पर उन्होंने कहा कि ऐसा मत करो मैं मर जाउंगा. मोहम्मद यूसुफ चाहते थे कि मैं मुरलीधरन के शरीर पर मारूं लेकिन मैं ऐसा नहीं करता था.”

पहले भी शोएब अख्तर ने धोनी पर भी दिया था विवादित बयान

शोएब अख्तर ने कहा भारतीय टीम के निचले क्रम के बल्लेबाज लगाते थे आउट होने की गुहार 4

कुछ दिन पहले ही शोएब अख्तर ने खुलासा किया था कि उन्होंने एम एस धोनी को जानबूझकर बीमर फेंकी थी. शोएब अख्तर ने खुलासा किया था कि, 2006 फैसलाबाद टेस्ट के दौरान उन्होंने महेन्द्र सिंह धोनी को जानबूझकर बीमर फेंका था. शोएब अख्तर ने यह भी कहा कि यह उनके करियर का इकलौता मौका था जब उन्होंने जानकर ऐसी गेंद फेंकी. उन्होंने कहा था कि

“मैंने फैसलाबाद में 8-9 ओवर का स्पेल फेंका था। यह काफी तेज स्पेल था और धोनी ने शतक जड़ दिया था। मैंने जानबूझकर धोनी को बीमर फेंका और फिर उनसे मांफी भी मांगी थी.”