पीसीबी पर भड़के शोएब अख्तर, पाकिस्तान को दी सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ से सीखने की सलाह 1

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी शोएब अख्तर इन दिनों अपने यू ट्यूब चैनल के जरिए अपने प्रशंसकों के साथ जुड़े रहते हैं. दिग्गज खिलाड़ी अक्सर वहां अपने विचार साझा करते हैं. वहीं दूसरे देशों में दिग्गज खिलाड़ियों के हाथों में राष्ट्रीय क्रिकेट की बागडोर सौंपी जाती है. ऐसे में अब एक शोएब अख्तर ने भी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से क्रिकेट को चलाने की अच्छा जाहिर की है.

पाकिस्तान क्रिकेट को चलाना चाहते हैं शोएब अख्तर

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर का मानना है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का तभी कुछ भला हो सकता है जब वह सही लोगों द्वारा चलाया जाए. इसके लिए अख्तर ने भारत, साउथ अफ्रीका का उदाहरण पेश करते हुए एक चैट शो के दौरान कहा,  सौरव गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष हैं, राहुल द्रविड़ नेशनल क्रिकेट अकादमी की अगुवाई कर रहे हैं। ग्रीम स्मिथ क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के हेड हैं.

मार्क बाउचर साउथ अफ्रीका के हेड कोच हैं, लेकिन पाकिस्तान में इसका उल्टा हो रहा है. उन्होंने मेरा सही उपयोग नहीं किया, मेरा काम टीवी शो में बैठना नहीं था. उन्हें मुझे क्रिकेट चलाने का मौका देना चाहिए था.

पाकिस्तानी दिग्गज यू-ट्यूब पर आते हैं नजर

शोएब अख्तर

पाकिस्तान क्रिकेट टीम की स्थिति  मौजूदा वक्त में काफी निराशाजनक है. बोर्ड में वकास यूनिस और मिस्बाह उल हक को छोड़कर दूसरा कोई बड़ा नाम शामिल नहीं है. वहीं इंजमाम उल हक, शाहिद अफरीदी, राशिद लतीफ, दानिश कनेरिया, यूनुस खान जैसे बड़े खिलाड़ी केवल यू ट्यूब पर बनाए अपने-अपने चैनलों के जरिए फैंस के साथ जुड़े रहते हैं. शोएब अख्तर ने चैट शो में ये भी बताया कि बोर्ड बड़े खिलाड़ियों को मैनेजमेंट में क्यों नहीं शामिल करता. इस बारे में अख्तर ने कहा,

एलीट क्लास के लोग अपने अंडर औसत दर्ज के लोग चाहते हैं, जिन पर वो अपना हक जता सकें.

अक्टूबर 2019 को गांगुली बने बीसीसीआई अध्यक्ष

शोएब अख्तर

भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी सौरव गांगुली मौजूदा वक्त में बीसीसीआई प्रेसिडेंट हैं. चुनाव द्वारा गांगुली को अक्टूबर 2019 में बीसीसीआई अध्यक्ष के पद पर बैठाया गया. इसके बाद से ही गांगुली ने भारतीय क्रिकेट को बेहतर से और बेहतर बनाने के लिए काम शुरु कर दिए.

नवंबर-दिसंबर महीने में भारत ने बांग्लादेश के साथ पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेला. इसके अलावा दादा लगातार भारतीय क्रिकेट को ऊंचाईयों पर पहुंचाने के लिए कार्यरत हैं. इसके अलावा द वॉल के नाम से विश्व क्रिकेट में अपनी पहचान बनाने वाले राहुल द्रविड़ एनसीए का प्रमुख 2019 जून में बनाया गया था.