डोपिंग का डंग

पाकिस्तान क्रिकेट में चाहे वो फैंस हो या क्रिकेटर्स उन्हें भारतीय क्रिकेटर्स की तारीफ रास नहीं आती है। पाकिस्तान की क्रिकेट बोर्ड या पूर्व क्रिकेटर्स और फैंस अक्सर ही भारत के क्रिकेट की तारीफ पर चिढ़ते दिखाई देते हैं। अगर कोई पाकिस्तानी ही भारत के खिलाड़ी की तारीफ कर दें तो फैंस उस पर चढ़ बैठने की कोशिश करते हैं।

शोएब अख्तर ने कर दी इस बार कोहली-रोहित की तारीफ

इसी तरह का उदाहरण एक बार फिर से देखने को मिला है। इस बार पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों में से एक शोएब अख्तर के साथ हुआ। शोएब अख्तर ने हाल ही में भारत के विराट कोहली और रोहित शर्मा की तारीफ की थी।

विराट कोहली

अपने बेबाक कमेंट के लिए पहचाने जाने वाले पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच सीरीज को लेकर अपनी राय दी। इस दौरान उन्होंने विराट कोहली और रोहित शर्मा की तुलना करते हुए अपनी प्रतिक्रिया रखी।

अख्तर ने ट्रोल करने वालो लोगों के मुंह को किया बंद

शोएब अख्तर ने अपने मुंह से कोहली या रोहित की तारीफ क्या कर दी पाकिस्तान के फैंस ने उन्हें जमकर ट्रोल किया। इस पर अख्तर भी खासे नाराज हो गए और उन्होंने फैंस को खूब आड़े हाथों लिया।

शोएब अख्तर

अख्तर ने क्रिकेट पाकिस्तान से खास बातचीत में कहा कि

आखिर क्यों मैं विराट कोहली की तारीफ नहीं कर सकता। क्या पाकिस्तान या पूरी दुनिया में ऐसा कोई खिलाड़ी है जो कोहली के करीब हो? मुझे समझ नहीं आता कि लोग गुस्से में क्यों हैं। मुझे कहने से पहले आप जाकर उनके आंकड़े देखें।”

मैं क्यों ना करूं इन विश्वस्तरीय बल्लेबाजों की तारीफ

अख्तर ने आगे कहा,

विराट कोहली के नाम 70 इंटरनेशनल सेंचुरी हैं। मौजूदा दौर में कितने लोगों के नाम इतने शतक हैं।उन्होंने भारत में कितनी सीरीज जीती? इसके बाद क्या मुझे उनकी तारीफ नहीं करनी चाहिए? ये काफी अजीब है। हम सभी साफ तौर पर देख सकते हैं कि विराट दुनिया के सबसे बड़े बल्लेबाज हैं। वो और रोहित शर्मा हमेशा परफॉर्म करते हैं। हमें क्यों उनकी तारीफ नहीं करनी चाहिए?”

शोएब अख्तर विराट कोहली और रोहित शर्मा के नाम पर अपने ही देश के प्रशसंको से भिड़े 1

इसके अलावा शोएब अख्तर ने पाकिस्तान की टीम के इंग्लैंड दौरे को लेकर बात की जिसमें उन्होंने कहा कि “टीम के लिए दौरा कठिन था बायो बबल में रहना एक अलग चुनौती थी। टीम ने महज एक सेशन खराब खेला और इसलिए उनके हाथ से टेस्ट सीरीज चली गई। “