शोएब के बताने के बाद सामने आया, 2हिंदू रहे टीम का हिस्सा

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

67 सालों में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए खेले मात्र 2 हिंदू, 7 गैर-इस्लाम खिलाड़ी रहे हैं शामिल 

67 सालों में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए खेले मात्र 2 हिंदू, 7 गैर-इस्लाम खिलाड़ी रहे हैं शामिल

इन दिनों हिंदू-मुस्लिम को लेकर काफी चर्चाएं हो रही हैं. इसी बीच पाकिस्तान क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने अपने यू ट्यूब चैनल पर धर्म के आधार पर पाकिस्तान क्रिकेट टीम में अपने हमवतन दानिश कनेरिया के साथ होने वाले भेदभाव के बारे में बताया था. साथ ही ये भी बताया की पाकिस्तान में हिंदू रहते हैं लेकिन उनके साथ ऐसी भेदभाव की बातें सुनने को अक्सर मिल जाती हैं. अख्तर के विवादित बयान के बाद इसपर काफी चर्चा हो रही है.

पाकिस्तान के लिए खेल सके केवल 2 हिंदू खिलाड़ी

67 सालों में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए खेले मात्र 2 हिंदू, 7 गैर-इस्लाम खिलाड़ी रहे हैं शामिल 1

पाकिस्तान क्रिकेट टीम में इस्लाम का वर्चस्व रहा है. इस्लामिक देश है तो ये होना लाजमी है. लेकिन वहां हिंदू भी अच्छी-खासी संख्या में रहते हैं. इसके बावजूद 67 सालों से क्रिकेट खेल रही पाकिस्तान की टीम में आज तक मात्र 2 ही हिंदू खिलाड़ियों को शामिल किया गया.

इसमें से एक दानिश कनेरिया हैं. दानिश से पहले अनिल दलपत ने पाकिस्तान टीम के लिए क्रिकेट खेला. असल में अनिल के पिता क्रिकेट के शौकीन थे और वह करांची में ‘पाकिस्तान हिंदू’ नाम का क्रिकेट क्लब चलाया करते थे.

विकेटकीपर-बल्लेबाज अनिल, पाकिस्तान टीम में शामिल होने वाले पहले हिंदू खिलाड़ी थी. उन्होंने 1984 में डेब्यू कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 9 टेस्ट और 15 वनडे मैच खेला है, जिसमें 167 और  87 रन बनाए. पाकिस्तान के लिए खेलने वाले दूसरे हिंदू दानिश कनेरिया दलपत के ही रिश्तेदार थे.

पाकिस्तान के लिए खेले चुके हैं 7 गैर-मुस्लिम

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए आज तक कुल सात गैर मुस्लिम खिलाड़ियों ने क्रिकेट खेला है. वालिस मैथ्यूस पाकिस्तान के लिए क्रिकेट खेलने वाले पहले गैर मुस्लिम खिलाड़ी बने थे. उन्होंने राष्ट्रीय टीम के लिए 21 टेस्ट मैच खेलते हुए 783 रन बनाए थे.

उनके बाद एंग्लो इंडियन डनकन शार्प और एंटाओ डी सोजा पाकिस्तान टीम में शामिल हुए. यूसुफ योहाना ने पाकिस्तान में क्रिकेट खेला और 2005 में इस्लाम कबूल लिया. वहीं टीम के लिए सोहेल फजल भी उन इसाई खिलाड़ियों में शामिल थे जो टीम में शामिल हुए.

मेरे हिंदू होने के चलते होता था भेदभाव

शोएब अख्तर

विकेटकीपर-बल्लेबाज दानिश कनेरिया ने अख्तर की बात में हामी भरते हुए बयान देते हुए कहा शोएब अख्तर ने सच बताते हुए कहा,

दानिश कनेरिया ने अख्तर के खुलासे के बाद गुरुवार को खुलकर बोलते हुए कहा कि

“शोएब अख्तर ने सच कहा. मैं उन खिलाड़ियों के नाम बताऊंगा जो मुझसे बात करना पसंद नहीं करते थे क्योंकि मैं एक हिंदू था. मेरे पास उस पर बोलने की हिम्मत नहीं थी. लेकिन अब मैं ऐसा करूंगा.”

“जो खिलाड़ी मुझसे बात करना पसंद नहीं करते थे क्योंकि मैं एक हिंदू था. मैं जल्द ही उनके नामों का खुलासा करूंगा. मेरे पास इस संबंध में बोलने की हिम्मत नहीं थी, लेकिन अब इस मुद्दे पर बोलने की हिम्मत मिली जब मैंने शोएब का ये बयान सुना.”

“यूनिस खान, इंजमाम उल हक, मोहम्मद युसूफ और शोएब अख्तर जैसे खिलाड़ी थे जो उनके धर्म के बावजूद उनके प्रति अच्छे थे.”

Related posts