शोएब अख्तर का कहना है कि पाकिस्तान को आगे बढ़ने के लिए करना होगा ये बदलाव 1

विश्व कप के  दौरान से पाकिस्तान की टीम को काफी उतार चढाव का सामना करना पड़ा. विश्व कप बाद ऐसी  ख़बरें सामने आ रही थी की पाकिस्तान की टीम में कई बड़े बदलाव किये जाएंगे, एक खबर में यह भी सामने आया था कि पाकिस्तान क्रिकेट में अंदर बहुत सी दिक्कतें हैं. जिसको जल्द से जल्द सही करना है, इसके लिए अब पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी शोएब अख्तर ने भी टीम के लिए सही प्रबंधन की मांग की है.

शोएब अख्तर ने कप्तानी पर किया ये कमेंट

शोएब अख्तर

पाकिस्तान क्रिकेट में अब स्प्लिट कप्तानी शुरू करने की बात चल रही है और अख्तर ने तो हैरिस सोहेल को सीमित ओवरों के प्रारूप में कप्तान और टेस्ट में बाबर आजम बनाने का सुझाव दिया.

43 साल के अख्तर को यह भी लगता है कि पाकिस्तान को अगर किसी नई दिशा में जाने की ख्वाहिश है, तो उसे ‘स्टार’ के साथ ज्यादा आधुनिक खिलाड़ियों की जरूरत होगी.

शोएब मलिक ने कहा कि,

“मैंने पाकिस्तान से कहा है कि वह आधुनिक समय के खिलाड़ियों को स्टार वैल्यू के साथ लाए. नए खिलाड़ियों को अपने दृष्टिकोण में ढाल सकते हैं, पाकिस्तान बोर्ड को कई बदलाव करने की जरुरत है.

पाकिस्तान के कोच के लिए इन खिलाड़ियों के नाम का दिया सुझाव

शोएब अख्तर का कहना है कि पाकिस्तान को आगे बढ़ने के लिए करना होगा ये बदलाव 2

शोएब अख्तर का कहना है कि पाकिस्तान को आगे बढ़ने के लिए करना होगा ये बदलाव 3

पाकिस्तान के कोच बनने वाले लोगों के बारे में, शोएब अख्तर ने मोहम्मद यूसुफ, मोहम्मद वसीम और सईद अनवर जैसे नामों को चुना. उन्होंने कहा कि इन खिलाड़ियों ने आधुनिक क्रिकेट खेला है.

अब आपको बताते हैं कि इन खिलाड़ियों का क्रिकेट में  कैसा रहा प्रदर्शन सबसे पहले मोहम्मद युसुफ इन्होने 288 एकदिवसीय मुकाबले खेले हैं, जिसमे इन्होने 41.72 की औसत से 9720 रन बनाए हैं.

अब बारी है 41 वर्ष के मोहम्मद वसीम की इन्होने 25 एकदिवसीय मुकाबले खेले हैं और 18 टी 20 मुकाबले खेले हैं. 25 मैच में इन्होने 23.61 की औसत से 543 रन बनाए हैं.

पकिस्तान के स्टार प्रबंधन के लिए कही यह बात

शोएब

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान को एक ‘स्टार’ प्रबंधन की आवश्यकता है. उनके अनुसार, जब तक ऐसा नहीं होता, तब तक पाकिस्तान स्टार या मैच जीतने वाली टीम नहीं होगी.

शोएब ने बिना नाम लिए बोला की कुछ सीनियर्स के साथ उन्होंने काम किया है जिनको क्रिकेट का बहुत ज्ञान नही है, वह अपने समय से शानदार बल्लेबाज और गेंदबाज हो सकते हैं, पर उनको आधुनिक क्रिकेट के बारे में कोई ज्ञान नहीं है.